फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News ब्रांड स्टोरीज़देशभर में बजा लॉ प्रेप ट्यूटोरियल पटना का डंका, संस्थान के छात्र जय का क्लैट 2024 में ऑल इंडिया रैंक वन

देशभर में बजा लॉ प्रेप ट्यूटोरियल पटना का डंका, संस्थान के छात्र जय का क्लैट 2024 में ऑल इंडिया रैंक वन

लॉ प्रेप ट्यूटोरियल पटना के छात्र जय ने ऑल इंडिया रैंक वन के साथ इतिहास रच दिया है। जय ने 118 में से 108 नंबर हासिल किए है।

देशभर में बजा लॉ प्रेप ट्यूटोरियल पटना का डंका, संस्थान  के छात्र जय का क्लैट 2024 में ऑल इंडिया रैंक वन
Anup PrakashBrand Post,PatnaThu, 21 Dec 2023 06:33 PM
ऐप पर पढ़ें

कंसोर्टियम ऑफ नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज ने कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट, क्लैट 2024 के नतीजे घोषित कर दिए हैं। देश भर में एक बार फिर लॉ प्रेप ट्यूटोरियल पटना का डंका बजा है। इस संस्थान के छात्र जय ने ऑल इंडिया रैंक वन के साथ इतिहास रच दिया है। जय ने 118 में से 108 नंबर हासिल किए है। इसके साथ ही लॉ प्रेप ट्यूटोरियल के पटना ब्रांच के छात्रों ने भी सफलता का परचम लहराया है। पटना ब्रांच ने एक बार फिर अपना ही रिकॉर्ड तोड़ा है। 2024 में घोषित हुए नतीजों में संस्थान से 175 से ज्यादा छात्रों ने अभूतपूर्व सफलता प्राप्त कर बिहार का मान बढ़ाया है और पूरे देश में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है।  

एक समय था जब अभिभावक चाहते थे कि 12वीं बाद उनके बच्चे डॉक्टर और इंजीनियर बने। लेकिन अब समय बदल गया है। अब अभिभावक बच्चों को लॉ जैसे क्षेत्रों में जाने का सपना देखते है। कानून का पेशा ऐसा पेशा 1 है जिसकी मांग हर समय रहता है। लॉ की पढ़ाई करने वाले बच्चों का भविष्य हमेशा उज्जवल रहता है। कानून की पढ़ाई करने के लिए क्लैट का एग्जाम पास करना जरूरी है। इसके लिए विश्वसनीय कोचिंग संस्थान से तैयारी करना बेहद अहम है। जब क्लैट की तैयारी बात आती है तो सबसे पहले जो नाम जुबान पर आता है वह है लॉ प्रेप ट्यूटोरियल। हर बार की तरह इस बार भी इस संस्थान के छात्रों ने क्लैट में शानदार सफलता प्राप्त की है। संस्थान के छात्र जय ने ऑल इंडिया रैंक वन के साथ इतिहास ख दिया है। जय ने 118 में से 108 नंबर हासिल किए हैं। साथ ही पटना ब्रांच के छात्रों ने भी अभूतपूर्व प्रदर्शन कर अपना ही रिकॉर्ड तोड़ इतिहास बना दिया है। क्लैट का रिजल्ट घोषित होते ही इस संस्थान में खुशी की लहर दौड़ गयी। छात्र जय की शानदार सफलता और पटना सेंटर से क्लैट में 175 से ज्यादा छात्रो का चयन संस्थान की गुणवत्ता और प्रतिबद्धता की गवाही देता है।  

को फाउंडर व निदेशक ने दी बधाई  

ऐतिहासिक नतीजों के बाद संस्थान के को फाउंडर अभिषेक गुंजन और निदेशक हिमांशु शेखर ने छात्रों को बधाई दी। वहीं सफल छात्रों ने बताया कि अगर क्लैट क्लीयर करना है तो यह सर्वश्रेष्ठ संस्थान है।  

लगातार 5 वर्षों से सफलता के शिखर पर है संस्थान  

 लॉ प्रेप ट्यूटोरियल पटना लगातार 5 वर्षों से सफलता के शिखर पर कायम है। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी पूरे बिहार में इसी संस्थान ने टॉपर दिया है। आंकड़ो की बात करे तो वर्ष 2020 में संस्थान की आद्या सिंह (ऑल इंडिया रैंक 2) ने पूरे बिहार में टॉप किया था। ऐसे ही वर्ष 2021 में गरिमा बंका (ऑल इंडिया रैंक 9), 2022 में ऋषिता झा (ऑल इंडिया रैंक 48) और 2023 में नताली (ऑल इंडिया रैंक 7) ने पूरे बिहार में टॉप कर सफलता का परचम लहराया था। इस वर्ष तृषा शर्मा ने बिहार टॉप कर एक बार फिर लॉ प्रेप ट्यूटोरियल पटना सेंटर का मान बढ़ाया है। संस्थान से इस वर्ष क्लैट में 175 से भी ज्यादा छात्रों का चयन हुआ है, जो अपने आप में एक कीर्तिमान है। साथ ही इस वर्ष लॉ प्रेप ट्यूटोरियल के सिर सफलता का एक और सेहरा बंधा है। संस्थान के छात्र जय ने ऑल इंडिया में टॉप कर संस्थान का मान बढ़ाया है। इस ऐतिहासिक नतीजे से पूरे देश में संस्थान के नाम का डंका बजा है।  

संस्थान बना सफलता का सारथी  

प्रत्येक वर्ष लाखो की संख्या में छात्र लॉ जगत में अपने अच्छे करियर की इच्छा के साथ आगे बढ़ते हैं और प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने की ठान लेते है। लेकिन प्रतियोगी परीक्षा से जुड़ा सबसे अहम विषय है इसकी तैयारी। तैयारी जितनी मजबूत होगी सफलता उतनी ही बड़ी मिलेगी। इसलिए जरूरी है कि हम अपनी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी एक प्रतिष्ठित और विश्वसनीय संस्थान से करें। जैसे-लॉ प्रेप ट्यूटोरियल पटना। यह संस्थान बेहतरीन नेतृत्व और नंबर वन फैकल्टी के लिए जाना जाता है। क्लेट जैसी प्रतियोगी परीक्षा के लिए लॉ प्रेप ट्यूटोरियल पटना सबसे शानदार विकल्प है। यह संस्थान में मिल रही गुणवत्तायुक्त शिक्षा और अध्यापको के सटीक मार्गदर्शन का ही परिणाम है कि हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी संस्थान के छात्र-छात्राओं ने बड़ी संख्या में क्लैट में सफलता का परचम लहराया है।  

संघर्षों के साये से निकल कर भरी सफलता की उड़ान  

हिम्मत और कोशिश से सफलता का स्वाद चखा है ऑल इंडिया रैंक वन लाने वाले कुशाग्र बुद्धि वाले छात्र जय ने। जय ने इस शानदार नतीजे के साथ एक बार फिर साबित कर दिया है कि उचित मार्गदर्शन और मेहनत व लगन से कोई भी लक्ष्य हासिल किया जा सकता है।  

अर्जुन की तरह एक ही लक्ष्य रख सफलता पाईः जय  

जय ने बताया कि परीक्षा से दो माह पहले मेरा एक्सीडेंट हो गया था। इससे एक बार तो ऐसा लगा कि मैं परीक्षा नही दे पाऊंगा, लेकिन माता - पिता और लॉ प्रेप ट्यूटोरियल के टीचर्स ने मनोबल नही टूटने दिया। मैंने भी अर्जुन की तरह एक ही लक्ष्य रखा जिससे सफलता मिली। इस सफलता में पूरा योगदान लॉ प्रेप का जाता है जहां के फैकल्टी हर वक्त एक एक डॉबट्स लेने के लिए तैयार होते थे। एक हफ्ते लगातार हर दिन आयोजित मॉक ने भी सफलता में काफी मदद की। मुझे शुरुआत में कठिन लग रहा था, लेकिन जैसे जैसे टीचर्स से बात हुई मेरा मनोबल बढ़ता चला गया। घर जाकर हर रोज प्रैक्टिस करता था  क्लास शीट हो या टेस्ट पेपर और उसमें जो भी डॉबट्स आते थे वो लेकर संस्थान पर आ जाता था।  

क्लैट 2024 में बिहार की टॉपर बनी तृषा शर्मा  

तृषा शर्मा ने तमाम परिस्थितियो से लड़ते हुए खुद को साबित किया। उनके पिता नहीं है। वह 2 वर्ष पूर्व आंखो में क्लैट क्रैक करने का सपना संजोए गांव से निकल कर अपनी मां और छोटे भाई के साथ लॉ प्रेप ट्यूटोरियल पटना से तैयारी करने आई और पूरे लगन से लक्ष्य के प्रति समर्पित रही। संस्थान से मिले उचित मार्गदर्शन और गुणवत्तायुक्त शिक्षा की बदौलत वह आज बिहार की टॉपर है।  

डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी का बधाई संदेश :  

मैं लॉ प्रेप ट्यूटोरियल के सभी छात्रो को क्लैट 2024 में उनकी सफलता पर हार्दिक बधाई देता हूं। शानदार परिणाम के लिए अभिषेक गुंजन और लॉ प्रेप पटना को शुभकामनाएं। लॉ प्रेप ट्यूटोरियल इसी तरह हर वर्ष नए वकील बनाये और अच्छा काम करते रहें।"  

- डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी, पूर्व केंद्रीय मंत्री  

 

विश्वसनीय संस्थान से करें क्लैट की तैयारी  

कई बार छात्र यू ट्यूब या डिजिटल प्लेटफार्म से क्लैट जैसी कठिन परीक्षा की तैयारी करते है और सफलता नही मिलती। क्लैट एक प्रतिष्ठित प्रतियोगी परीक्षा है और उचित मार्गदर्शन और सही तैयारी की मांग करती है। ऐसे में यू ट्यूब आदि पर निर्भर न रहे। लॉ प्रेप ट्यूटोरियल पटना जैसे प्रतिष्ठित संस्थान का चयन करें और शानदार सफलता प्राप्त करें। गुणवत्तायुक्त शिक्षा के साथ-साथ विषयों को गहराई के साथ विद्यार्थियों को समझाना और एक विशेष पैटर्न से कोर्स का अध्ययन कराकर विद्यार्थियों के लिए क्लैट जैसी परीक्षाओं मे सफल होने का मार्ग प्रशस्त करना संस्थान की यूएसपी है।  

को फाउंडर का बधाई संदेश :    

अभिषेक गुंजन ने बताया कि यह हमसब के लिए गौरवान्वित करने वाला पल है। इस बार हमने क्लैट 2024 में सिर्फ बिहार झारखंड टॉपर ही नहीं, आल इंडिया रैंक वन दिया है। आज ये रिजल्ट पूरी टीम की बदौलत ही संभव हुआ है और मैं उन पेरेंट्स का भी धन्यवाद देता हूं, जिन्होंने विश्वास दिखाया हमारे संस्था के ऊपर। 

-अभिषेक गुंजन  

को फाउंडर, लॉ प्रेप ट्यूटोरियल  

निदेशक का बधाई संदेश :  

निदेशक हिमांशु शेखर ने कहा कि लॉ प्रेप बिहार के 175 छात्र छात्रों ने नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में जगह बनाई है। साथ में 20 से अधिक बच्चों ने देश के नंबर वन नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी बेंगलुरु में जगह बनाई है। इस बार हमने अपने द्वारा बनाये सभी रिकॉर्ड को तोड़ा।  

-हिमांशु शेखर  

निदेशक, लॉ प्रेप ट्यूटोरियल  

सफलता की कहानी, छात्रओं की जुबानी  

जय-  2024 रैंक 1  

इस सफलता में पूरा योगदान लॉ प्रेप को जाता है। यहा यहां के मॉक टेस्ट से भी सफलता में काफी मदद मिली। शुरुआत में कठिन लग रहा था, लेकिन जैसे जैसे टीचर्स से बात हुई मेरा मनोबल बढ़ता चला गया। मैं घर जाकर हर रोज प्रैक्टिस करता था। क्लास शीट हो वा टेस्ट पेपर डाउट की स्थिति में संस्थान के शिक्षकों से पूछता था  और शिक्षक हर समय सहयोग करते थे।  

तुषा शर्मा-क्लैट 2024-8  

मैं अपनी सफलता का श्रेय लॉ प्रेष पटना और अभिषेक सर को दूंगी। सभी क्लैट एग्जाम देने वाले बच्चों को बोलूंगी कि एग्जाम से 2 महीने पहले से सप्ताह में 2 मॉक बनाएं और एनालिसिस करें साथ ही पता करें कि कहा गलती हुई । मैने इसी को  फॉलो किया और आज देश के टॉप वन नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में जगह बनाई है।  

जिज्ञासा-क्लैट 2024-रैंक 9  

जिज्ञासा ने आल इंडिया रैंक 9 हासिल की। जिज्ञासा ने बताया कि लॉ प्रेप के शिक्षक मोटीवेट करने के साथ साथ काफी अच्छा पढ़ाते रहे हैं। मैं ऑनलाइन की हर मॉक देने के बाद एनालिसिस कर  फैकल्टी से जुड़कर एक एक डाउट सॉल्व करती थी । ऐसा निरंतर करने से आगे  के मॉक में सुधार आया और आज सफलता मिली।  

आयुष कुमार क्लैट 2024-रैंक 12(ews)  

क्लैट में रैंक 12 हासिल कर नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी बेंगलुरु में जगह बनाने वाले आयुष ने बताया कि सेल्फ मोटिवेशन मेरी सबसे बड़ी ताकत रही है। मैं बीच बीच में जब भी परेशान हुआ लॉ प्रेप पटना टीम से मिल कर परेशानी दूर किया और फैकल्टी की कही  हर बात को फॉलो किया। सबसे ज्यादा जरूरी है मॉक अधिक करें और एनालिसिस जरूर करें।  

अभिज्ञान पांडेव क्लैट 2024-रैंक 14  

अभिज्ञान  ने बताया कि मैं जज बनना चाहता हूं, कड़ी मेहनत से सफलता मिल गयी। लॉ प्रेष पटना का कोचिंग एनवायरनमेंट पॉजिटिव और मोटीवेट करते वाला है। मैं अपने परिवार के साथ अपने संस्था की अहम भूमिका मानता हूं मेरी सक्सेस में।  

 आकांक्षा  क्लैट 2024-रैंक 15 (ews)  

आकांक्षा ने कहा मेरी सफलता का श्रेय मां पापा के साथ साथ मेरे संस्था को जाता है। मैं प्रतिदिन 10-12 घण्टे पढ़ाई करती थी।  हर टॉपिक को स्टार्ट करती थी तो एक लेवल पर उस टॉपिक पर पहुंच कर रुकती थी इसके लिए जो समय लग जाए। डाउट्स पर हमेशा फोकस रहता था क्योंकि डाउट्स के साथ आगे नहीं बढ़ा जा सकता है।  

विपुल 24-रैंक 21  

लॉ प्रेप के टीचर्स ने काफी सपोर्ट किया, यदि किसी भी प्रश्न में डाउट रहा या परेशानी आती थी तो हमेशा वो सॉल्व करने को तैयार होते थे। लीगल मेरा बेस्ट सब्जेक्ट रहा, उसमें हमेशा स्कोर अच्छा रहा । तैयारी में आप हर एक सब्जेक्ट को इक्वल लेकर चलें और रिवीजन हमेशा करें।  

श्रेय कुमार क्लैट 2024- रैंक 22  

श्रेय कुमार ने बताया मुझे क्लैट एग्जाम के साथ बोर्ड्स भी देने हैं, तो थोड़ी चिंता दोनो को लेकर होती थी। श्रेय ने बताया लॉ प्रेप बिहार के साथ जुड़ने के बाद राह आसान हो गयी। शिक्षकों ने काफी सपोर्ट किया। हर वक्त हर समय टेलीग्राम पर डाउट क्लियर किया और आज उसी के कारण नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में जगह बना पाया हूं।  

अर्णव क्लैट 2024 - रैंक 24  

क्लैट परीक्षा में मुख्य रूप से सारथी रही लॉ प्रेप पटना की पूरी टीम,  खासकर अभिषेक सर जिन्होंने हर वक्त हर कदम पर हमे मोटीवेट किया और कुल एक साल में तैयारी पूरी हो गयी और जिसका परिणाम आज सामने है।  

आयुषी क्लैट 2024 - रैंक 33 (obc)  

यहां की स्टडी मटेरियल और मॉक टेस्ट जिसका जोर नहीं है।  आज मैं यहां तक पहुंची हूं तो इसका मुख्य कारण है मॉक देना और साथ में मॉक टेस्ट का एक एक डॉउट फैकल्टी द्वारा सही करना।  

क्लैट 2024 में लॉ प्रप ट्यूटोरियल पटना से 20 से अधिक छात्रों ने एनएलएसआईयू बंगलूरू में जगह बनाई  

कौस्तुव केशव पटना, शिवानी कुमारी नालंदा, आयूष राज पटना, सृष्टि राय पटना, श्रीजन सोलंकी जमुई, केशव गिरी पटना, ऋतंभरा शर्मा पटना, ज्योत्षनी किरण गया, जिया रंजन पटना, अनुनय भारद्वाज मुंगेर, आयूषी प्रिया पटना, आदया कश्यप शेखपुरा, युग रमण श्रीवास्तव पटना,साना ठाकुर गोड्डा (झारखंड), अमृता सिंह पटना, गार्गी आनंद बेगूसराय, सताक्षी श्रीवास्तव कैमूर, शिवम् तेजस पटना।  

वेबसाइट- www.lawpreptutorialpatna.com

संपर्क 8055425542

 

( इस लेख में किए गए दावों की सत्यता की पूरी जिम्मेदारी संबंधित व्यक्ति/ संस्थान की है)