फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News ब्रांड स्टोरीज़जॉनसंस बेबी के संग सुनिश्चित करें शिशु की खास देखभाल 

जॉनसंस बेबी के संग सुनिश्चित करें शिशु की खास देखभाल 

दुनिया में नवजात शिशु का आगमन अद्वितीय खुशी और जिम्मेदरी का एहसास लेकर आता है। उनकी नाजुक त्वचा से लेकर उनकी छोटी उंगलियों और संपूर्ण शरीर को खास देखभाल की आवश्यकता होती है। 

जॉनसंस बेबी के संग सुनिश्चित करें शिशु की खास देखभाल 
Anant JoshiBrand PostTue, 21 May 2024 08:31 PM
ऐप पर पढ़ें

एक शिशु की नाजुक त्वचा एक वयस्क की त्वचा की तुलना में लगभग 30% पतली * होती है, जिसके परिणामस्वरूप दोगुनी तेजी से नमी खो सकती  है। उनमें पीएच भी बदलता है जिससे रूखेपन, जलन और सूजन  का खतरा बढ़ जाता है। शिशु की त्वचा की नाजुक प्रकृति को देखते हुए, इंडियन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स (आईएपी) ने नवजात शिशुओं और बच्चों के लिए गुणवत्तापूर्ण त्वचा देखभाल सुनिश्चित करने के लिए दिशानिर्देश लागू किए हैं। इस लेख में नवजात शिशु की त्वचा की देखभाल के लिए महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है साथ ही कुछ कारण भी बताए गए हैं कि जॉनसंस बेबी नवजात शिशु की देखभाल के लिए सही विकल्प क्यों है... 

पहले दिन से खास देखभाल 

नवजात शिशु की देखभाल पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है। दूध पिलाने और नहलाने से लेकर, नवजात शिशु की देखभाल के हर पहलू, विशेष रूप से त्वचा की देखभाल के लिए उपयुक्त उत्पादों की अच्छी समझ की आवश्यकता होती है। साथ ही पहले दिन से ही पोषण सुनिश्चित करना बेहद महत्वपूर्ण है। 

बेबी की डायपरिंग 

नवजात शिशु को किसी तरह की असुविधा और डायपर रैश से बचाने के लिए विशेष देखभाल की जानी चाहिए। डायपर को हर 2-3 घंटे में (आईएपी की गाइडलाइंस के अनुसार) या गीला होने पर बदल देना चाहिए। डायपर एरिया को जॉनसंस बेबी वाइप्स से धीरे से साफ करें क्योंकि इसमें लोशन भी होता है और यह त्वचा की नमी बनाए रखता है। ये वाइप्स चिकित्सकीय रूप से माइल्ड और अल्कोहल-फ्री हैं, जो शिशु को  जलन से बचाते हैं और उन्हें फ्रेश रखते हैं। 

बाथिंग एंड मॉइस्चराइजिंग 

शिशु के लिए ऐसे बेबी शैंपू और वॉश चुनें जिनका फॉर्मूला पीएच संतुलित हो और जिनमें कोई हानिकारक रसायन न हों। 

नहलाते वक्त जॉनसंस बेबी टॉप-टू-टो बाथ चुनें जो कोकोनट और ग्लिसरीन जैसी बेबी सेफ सामग्री से बने हैं।  नहलाने के बाद शिशु की त्वचा को नरम, कोमल और पोषित बनाए रखने के लिए मिल्क प्रोटीन, कैमोमाइल अर्क और कोकोनट ऑयल जैसे पौष्टिक तत्वों से भरपूर जॉनसंस बेबी क्रीम और लोशन से बच्चे की त्वचा को मॉइस्चराइज करें।  

जॉनसंस बेबी क्रीम और लोशन विशेष रूप से शुष्क त्वचा को राहत देने के लिए तैयार किए गए हैं और 24 घंटे तक नमी प्रदान करते हैं **। ये हाइपोएलर्जेनिक ,क्लीनिकली प्रूवन माइल्ड और पीडियाट्रीशियन द्वारा टेस्टेड हैं, और पैराबेंस, थैलेट्स और डाई जैसे हार्मफुल केमिकल्स से मुक्त हैं। 

शिशु के बालों की देखभाल 

क्रैडल कैप नवजात शिशुओं के लिए आम चिंता का विषय है, इससे बचाव के लिए शिशु के बालों को नियमित रूप से धोना और कंघी करना चाहिए। ऐसे में आप जॉनसंस बेबी नो मोर टीयर्स माइल्ड शैम्पू चुन सकते हैं जो हानिकारक रसायनों से मुक्त है और शिशु के नाजुक स्कैल्प और बालों को पोषण देता है। 

स्तनपान और पोषण 

नवजात शिशु को पोषण प्रदान करना सबसे महत्वपूर्ण है। आमतौर पर हर 2-3 घंटे में स्तनपान कराना सही रहता है। फ्रीक्वेंसी और क्वांटिटी के लिए फॉर्मूला पैकेजिंग पर दिए गए निर्देशों का पालन करें।  

लगाव और बातचीत 

मां की त्वचा से शिशु के स्पर्श का समय न केवल एक खूबसूरत बंधन वाला अनुभव है, बल्कि शिशु के शरीर के तापमान को नियंत्रित करने और भावनात्मक विकास को बढ़ावा देने के लिए भी आवश्यक है। अपने बच्चे की इंद्रियों के विकास के लिए उनसे बात करें, लोरी सुनाएं और आई कॉन्टेक्ट करें और अपने रिश्ते में विश्वास और सुरक्षा की भावना पैदा करें। 

समय से कराएं टीकाकरण  

अपने नवजात शिशु को बीमारियों से बचाने के लिए  टीकाकरण कार्यक्रम के बारे में पीडियाट्रीशियन से परामर्श लें। समय से टीकाकरण बेहद जरूरी है। 

शिशु की देखभाल के लिए सही जानकारी है जरूरी 

जॉनसंस बेबी नवजात शिशु की त्वचा की देखभाल में विशेष भूमिका निभाता है। सबसे सुरक्षित शिशु उत्पाद बनाने के मिशन द्वारा निर्देशित, जॉनसंस बेबी दशकों के ज्ञान और विज्ञान का प्रयोग कर शिशु की नाजुक त्वचा की देखभाल के लिए अपने उत्पादों में केवल शिशु सुरक्षित सामग्री का उपयोग करता है। 

जॉनसन्स बेबी पीढ़ियों से सुरक्षित और चिकित्सकीय रूप से प्रमाणित माइल्ड उत्पाद प्रदान करता है, जो पहले दिन से बेबी की त्वचा की रक्षा करने में मदद करने का वादा करते हैं।  इसके अतिरिक्त, जॉनसंस बेबी माता-पिता को शिशु की देखभाल के लिए जरूरी जानकारी देने के लिए प्रतिबद्ध है, ताकि वे आत्मविश्वास के साथ अपने पेरेंटहुड की यात्रा को आगे बढ़ा सकें।  

अपने शिशु के साथ बिताए गए विशेष पलों की यादें हमारे साथ बाटें। सभी माताओं और भावी माताओं से अनुरोध है कि वे यहां क्लिक*** करें और  दिल को छू लेने वाली अपनी मातृत्व की कहानियां या तस्वीरें भेजें। जॉनसंस बेबी से पर्सनलाइज्ड जर्नी बुक्स और रोमांचक उपहार जीतने का मौका पाएं। 

*स्टैमाटास, जी, एट अल. 2, एस.एल.: पेडियाट्रिक डर्मेटोलॉजी, 2010, वॉल्यूम 27, पीपी. 125-131            

 **मॉइस्चराइजेशन  के प्रभाव संबंधी क्लीनिकल स्टडी पर आधारित

***नियम और शर्तें लागू 

अस्वीकरण: इस लेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक/ब्रांड के हैं, न कि हिन्दुस्तान के।