DA Image
12 अगस्त, 2020|12:32|IST

अगली स्टोरी

कोरोना से लड़ने से मामले में युवाओं से आगे हैं वृद्ध, तनाव भी कम: रिसर्च

gonda  corona  positive

कोरोना वायरस महामारी के बीच एक नई रिसर्च सामने आई है। एक नए UBC (ब्रिटिश कोलंबिया विश्वविद्यालय) रिसर्च में कहा गया है कि युवाओं की तुलना में वृद्ध या फिर जिनकी उम्र 60 साल से अधिक है, वो इस बीमारी का ज्यादा अच्छे तरीके से सामना किए हैं। रिसर्च ने कहा गया है कि 60 साल से अधिक उम्र के लोग कोरोना वायरस महामारी से कम तनाव और खतरा महसूस करते हैं। 

इस रिसर्च के लिए इस साल अप्रैल और मार्च में दैनिक आधार पर आंकड़े इकट्ठा किए गए। आंकड़ों में शोधकर्ताओं ने पाया कि वृद्ध लोगों ने युवा वयस्कों (18-39) और मध्यम आयु वर्ग के वयस्कों (40-59) की तुलना में भावनात्मक रूप से बेहतर प्रदर्शन किया है। यह नया रिसर्च जर्नल ऑफ गेरॉन्टोलॉजी, साइकोलॉजिकल साइंसेज में प्रकाशित हुए हैं। 

अध्ययन में बताया गया है कि युवा वयस्को में महामारी के दौरान खुद को अकेलापन और मनोवैज्ञानिक संकट देखने को मिला है। यह बात रिसर्च के लीडर और यूबीसी के मनोविज्ञान विभाग में स्नातक के छात्र पैट्रिक क्लेबर ने कही है। इस अध्ययन के लिए शोधकर्ताओं ने 18-91 आयु वर्ग के 776 प्रतिभागियों के डेटा का विश्लेषण किया जो कनाडा और अमेरिका में रहते थे और ये सभी दैनिक आधार पर अपने तनाव और अन्य जानकारी अपडेट करते रहे। शोध को लेकर क्लैबर का कहना है कि रिपोर्ट किए गए तनाव का स्तर उम्र के अंतर से भी संबंधित हो सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Older adults coped with coronavirus pandemic best UBC study reveals