DA Image

अगली स्टोरी

साहित्य का पांच सितारा युग

साहित्य का पांच सितारा युग

जबसे हिंदी साहित्य ‘ढाबा-युग’ से निकलकर ‘उत्सव-युग’ में दाखिल हुआ है, तभी से मेरा मन पांच-सितारा होने लगा है। होती होगी कभी काव्य की आत्मा ‘रस’ में,...

अगले जन्म में लिवर 32 देना

एक शराबी पति मरने ही वाला था कि तभी

उसके सामने भगवान शिव प्रकट हुए...

शिव जी- तुम्हारी कोई अंतिम इच्छा बताओ।

शराबी पति- प्रभु, अगले जन्म में दांत भले एक ही
देना, लेकिन लिवर पूरे 32 देना।