najariya hindustan column on 12 april - उस एक गोल ने फुटबॉल की खूबसूरती उभार दी DA Image
19 नबम्बर, 2019|1:13|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उस एक गोल ने फुटबॉल की खूबसूरती उभार दी

नजरिया

 

पिछले दिनों चैंपियन्स लीग के क्वार्टर फाइनल में रीयल मैड्रिड के क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने एक इतना खूबसूरत गोल दागा, जिसे देख कुछ पलों के लिए मानो सबकी सांसें थम-सी गई थीं। क्रिस्टियानो रोनाल्डो इस दौर के दो महानतम फुटबॉलरों में से एक गिने जाते हैं। जैसे ही बॉल उनकी तरफ आई, उन्होंने इर्द-गिर्द के डिफेंडरों के ऊपर ऊंची छलांग लगाई, गुरुत्वाकर्षण और न्यूटन को चुनौती देते हुए वह कुछ पलों के लिए हवा में टंगे रहे, और एक माइक्रोसेकंड में किसी जहीन एथलीट की तरह यह आकलन किया कि बॉल को कहां पर और किस तरह से मारना है। फिर उन्होंने अपने शरीर को हवा में ही घुमाया और सिर के ऊपर से दनदनाता हुआ किक लगाया। गेंद लहराती हुई नेट के ऊपरी कोने में थी। यह अदम्य ऊर्जा का, बैले डांस सा खूबसूरत, ताकत, तकनीक, बारीकी और चकित कर देने वाला एक प्रेरणादायक गोल था। यह प्रीमियर क्लब फुटबॉल टूर्नामेंट के इतिहास के सर्वश्रेष्ठ गोल में से एक है।
उसके बाद तो जो हुआ, वह अभूतपूर्व था। यह जानने के बाद कि यह एक ऐसा गोल है, जो खेल खत्म कर सकता है और यूवेंटस को स्पद्र्धा से बाहर भी कर सकता है, यूवेंटस समर्थक दर्शकों ने इस गोल के आनंद में अपनी करतल ध्वनि से पूरे स्टेडियम को गुंजा दिया। आधुनिक दौर के श्रेष्ठतम रक्षकों में शुमार यूवेंटस के गोलकीपर जनलुइजी बुफॉन ने आगे बढ़कर रोनाल्डो को बधाई दी। खेल खत्म होने के बाद यूवेंटस के कोच मसीमिलियानो अल्लेग्री ने रीयल मैड्रिड के इस खिलाड़ी की तारीफों के पुल बांध डाले।यह सचमुच एक दुर्लभ उदाहरण है, जब दर्शक और खिलाड़ी टीम की सीमा, आपस की होड़, और एक अहम मुकाबले में हार की निराशा से ऊपर उठकर उस बेजोड़ सौंदर्य का जश्न मना रहे थे, जो यह खेल रच सकता है। और यही किसी खेल को देखने का चरम रोमांच है, जब आप भूल जाते हैं कि आप किसका समर्थन कर रहे थे, आप हार की निराशा को भूलकर सामने उपस्थित जीनियस के जादू को सलाम करने लगते हैं।
मैं रोनाल्डो का फैन नहीं हूं। लेकिन उस दिन गोल दर्ज होने के बाद मैंने उसे देखा। मैंने इसके बारे में अपने दोस्तों, सहयोगियों और अपनी बेटी से चर्चा की। और सचमुच उस एक गोल ने मेरा दिन खुशनुमा बना दिया। मुझे मालूम है कि रोनाल्डो के इस गोल ने उन सबको भी बेइंतहा खुशी दी। हमें मालूम है कि इस तरह की चीजें हमारे भौतिक जीवन में कोई बड़ा फर्क नहीं डालतीं; हम जानते हैं कि पिच पर होने वाली बातों से हम प्रभावित नहीं होते; मुझे यह भी पता है कि यह गोल किसी दूसरे महादेश की दो टीमों के दरम्यान खेले गए मैच में दागा गया, जिनमें से किसी से मेरा कोई खास लगाव नहीं रहा है, और इसके साथ ही हम यह भी मानते हैं कि इसका कोई अर्थ नहीं है, और बहुत कुछ है। 
एक और बात! किसी भी दूसरी सांस्कृतिक गतिविधि, जैसे साहित्य, सिनेमा, बैले या संगीत के उलट किसी खेल का एक चमत्कारिक पल अपार आनंद दे सकता है। कोई किताब या फिल्म या संगीत को उसकी समग्रता में ही सराहा जा सकता है। मुमकिन है कि कोई किसी एक तस्वीर, दृश्य या गिटार के किसी खास धुन पर मुग्ध हो जाए, लेकिन उसे उसके पूरे संदर्भ से काटकर देखना मुश्किल है। लेकिन खेल में, जैसा कि क्रिस्टियानो रोनाल्डो के उस गोल ने किया, आप एक पल में आनंद उठा सकते हैं। इसके लिए आपको पूरे मैच में क्या हुआ, यह जानने की जरूरत नहीं है। जब रोजर फेडरर उल्टे हाथ से शानदार हमला करते हैं, या गुंडप्पा विश्वनाथ न भुला सकने वाला स्क्वॉयरकट लगाते हैं, या रिचड्र्स अपनी क्लासिक कवर ड्राइव जड़ते हैं, या शेन वॉर्न अपनी उंगलियों से गेंद को नचाते हैं, तो दर्शक उस पल आनंद से विभोर हो उठता है, चाहे उनके उस मैच का नतीजा जो भी रहा हो। 
एक खेल यही खालिस आनंद हमें देता है। रीयल मैड्रिड ने उस क्वार्टर फाइनल में युवेंटस पर जीत दर्ज की थी। अगर रीयल मैड्रिड वह मैच हार भी गया होता, तब भी क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने जो लाजवाब गोल दागा है, उसे हजारों बार, बार-बार देखा जाता और उसकी खूबसूरती की बातें अंतहीन ही रहतीं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:najariya hindustan column on 12 april