• ईवीएम यानी इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन से लिए गए एक एक्सक्लूसिव इंटरव्यू के खास अंश इस प्रकार हैं- सवाल- आप कैसी हैं?  ईवीएम- आप मुझसे छेड़खानी करने आए हैं?  सवाल- कैसी बात कर रही हैं...

    Tue, 12 Dec 2017 10:41 PM IST Alok Puranik Where EVM Flirting There अन्य...
  • बडे़ तेवर दिखाए प्याज और टमाटर ने। मगर टाइमिंग गलत हो गई। सो किसी ने देखे नहीं। सबने उन्हें इग्नोर ही किया- अरे यार, अभी नेताओं के तेवर देखते हैं, तुम जरा बाद में आना। नेताओं को देखो कैसे-कैसे पैंतरे...

    Mon, 11 Dec 2017 11:06 PM IST Nashtar No One Is Watching These Teats Sahiram
  • रामचरित मानस  में राम का जीवन आठ काण्डों में समाहित है। भारत की एक सूत्रीय राजनीति केवल पाखंड के चुनावी काण्ड तक सीमित है। हर पार्टी का एकमात्र लक्ष्य चुनाव जीतना है। कोई इसके लिए जनसेवा का...

    Mon, 11 Dec 2017 01:33 AM IST Elections For Junk Hypocrisy Gopal Chaturvedi
  • चाहे वह राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव हो या विधानसभा का चुनाव, दोनों जगह डुगडुगी तो पिट चुकी। अब बस एलान बाकी है। सिक्के में दोनों तरफ हेड हो, तो जीत पक्की होती है। कहीं सुना था कि कभी किसी देश में...

    Sat, 09 Dec 2017 01:32 AM IST Nashtar Dudgigi Pitt Whatever Is Left अन्य...
  • उर्दू का एक शब्द है सफर। हिंदी में यात्रा। करेंसी की पीठ पर रुपये की भांति अन्य भाषाओं में लिखना नामुमकिन, तथापि जनप्रिय भाषा में ट्रैवल। पुरानी फिल्मों के गीत वाला सफर आज भी कानों में रस घोलता है।...

    Fri, 08 Dec 2017 01:05 AM IST Nashtar Jhahi Rithi Chale Train Tahi Rithi Chalo Ashok Sand
  • आम आदमी को महत्वपूर्ण महसूस करने के मौके जिंदगी में कम ही मिलते हैं। इसलिए मेरा ख्याल है कि शादियां इतनी धूमधाम से होती हैं। दूल्हा या दुल्हन बनना आम आदमी के लिए वैसा ही अनुभव होता है, जैसे किसी नेता...

    Thu, 07 Dec 2017 12:05 AM IST Nashtar Column Rajendra Dhodapkar
  • यह 21वीं सदी के दूसरे दशक का सातवां साल है। एक मैदान के कोने में कुछ लोग गुपचुप कविता की बात कर रहे हैं। वे अपने हाथ हवा में इस तरह उछाल रहे हैं, जैसे हवा में सरोकारी गांठ लगाने की भरसक कोशिश कर रहे...

    Wed, 06 Dec 2017 12:03 AM IST Nashtar Kanti Ka Shantakshi Kala Nirmal Gupta
  • जी नहीं, यह कोई प्रेम कहानी नहीं है। यह किसी आशिक या माशूक का किस्सा नहीं है। मिलन और वियोग की कहानी भी नहीं है। पर लगती कुछ ऐसी ही है। लोग मैट्रो पर फिदा हुए, उन्होंने उससे दिल लगाया, उसके गुण गाए,...

    Tue, 05 Dec 2017 02:04 AM IST Why Did We Get Away From You Sahiram Nashtar
  • विद्वान बताएं न बताएं, हम जानते हैं कि चुनाव प्रजातंत्र का महत्वपूर्ण उत्सव है। गुमशुदा नेता, विदेशी सैर-सपाटा मुल्तवी करके गांव-गांव की धूल फांकते हैं। जहां होली, दिवाली और ईद जेब पर भारी हैं, वहीं...

    Mon, 04 Dec 2017 12:48 AM IST Nashtar The Importance Of Election Festival Gopal Chaturvedi
  • हर व्यंग्य जनहित में जारी विज्ञापन की तरह होता है। एक ओढ़ी हुई औपचारिकता। वोट डालने की विवशता। इधर पद्मावती ने लोगों को क्रोधित कर दिया है। अब कौन माई का लाल होगा, जो इस फिल्म को दोगुने दाम पर न...

    Sat, 02 Dec 2017 12:51 AM IST Nasthar Column Urmil Kumar Thapliyal
  • ट्विटर एक नीली चिड़िया का नाम है। हुसैन के नीले घोड़ों की तरह इसकी बात ही कुछ और है। इसकी चहक के बड़े गहरे (या उथले) मतलब होते हैं। अधिकांश प्रजाति के र्पंरदों की तरह इसका भी घोंसला होता है, पर उसे...

    Thu, 30 Nov 2017 11:44 PM IST Nashtar Column Nirmal Gupt Hindustan
  • आजकल मैं कुछ इज्जतदार आदमी हो गया हूं। इसकी एक वजह तो यह है कि मैं गंजा हो गया हूं और मेरे बाल सफेद हो गए हैं। सरकारी नौकरी की तरह इज्जत में भी टाइम-स्केल प्रमोशन होता है। यानी उम्र बढ़ने के साथ अपने...

    Wed, 29 Nov 2017 10:28 PM IST Nashtar Column Rajendra Dhodapkar Nashtar On 30 Nov
  • हाल की पुरातत्व-खुदाई में कुछ बहुत पुराने रिकॉर्ड मिले हैं, जिनमें कई नए तथ्य सामने आए हैं। खासकर सती सावित्री के बारे में। नई मिली जानकारी के मुताबिक, सत्यवान अस्वस्थ चल रहे थे, तो उन्हें एक निजी...

    Tue, 28 Nov 2017 11:16 PM IST Nashtar Column Alok Puranik
  • कितनी असहाय और अशक्त हो गई है कलम कि कॉलम के लिए विषय ही नहीं सूझ रहा। इस घनघोरी ‘विषयी’ समय और समाज में एक छोटे-पतले लेखक के लिए इससे बड़ी त्रासदी भला क्या होगी? यह क्लीयर कर दूं कि भाषाई...

    Tue, 28 Nov 2017 12:32 AM IST Nashtar Recommend Subject Disorder Zero Haro Deva Ashok Sand
  • भारतीय शास्त्रीय संगीत में हर समय के राग हैं, जैसे भोर की भैरवी या सांझ का यमन। एक राग दरबारी भी है, जो पहले राज-दरबारों की शोभा बढ़ाता था, पर अब इतने दरबार हैं कि ये यत्र-तत्र-सर्वत्र व्याप्त हैं।...

    Mon, 27 Nov 2017 12:05 AM IST Nashtar Reservation For Every Election Gopal Chaturvedi
  • 1
  • of
  • 26

थोड़ा हंस भी लो: एक बार पति-पत्नी घूमने जा रहे थे

रास्ते मे गधा मिला


पत्नी को मजाक सूझी


पत्नी- आपके रिस्तेदार है- नमस्ते करो


पति भी बहुत कमीना था


बोला- ससुर साहब नमस्ते..