DA Image
1 दिसंबर, 2020|11:09|IST

अगली स्टोरी

मां की तनख्वाह

अमेरिका की फोर्ब्स कंपनी ने एक वेबसाइट बनाई है, सैलरी डॉट कॉम। इस वेबसाइट पर यह खोज की जाती है कि काम के अनुसार लोगों की तनख्वाह कितनी होनी चाहिए? इस खोज में पाया गया कि सबसे उपेक्षित काम मां का है। एक तो कोई उसे काम मानता ही नहीं। मां बनने के लिए कोई विशेष प्रशिक्षण की जरूरत नहीं होती, उसकी ड्यूटी के घंटे तय नहीं होते, वह कभी छुट्टी नहीं ले सकती, उसकी कोई पदोन्नति नहीं होती, उसका वेतन किसी भी निर्धारित श्रेणी में नहीं आता, इसीलिए उसकी कोई आर्थिक सुरक्षा नहीं होती। सैलरी डॉट कॉम के अनुसार, मां दिन-रात इतने तरह के काम करती है कि उनको करने के लिए यदि अलग-अलग विशेषज्ञ रखने पड़ें, तो जो तनख्वाह उन्हें देनी होगी, वह सालाना लगभग 1.15 लाख डॉलर होगी।
दो साल पहले विश्व सुंदरी प्रतियोगिता में यह सवाल पूछा गया था कि सबसे अधिक तनख्वाह किस व्यवसाय में मिलनी चाहिए? बिना पलक झपकाए मानुषी छिल्लर ने कहा था, मां को। मां को पैसे देने का ख्याल अटपटा जरूर लगता है, लेकिन आज के हालात को देखकर यह करने की आवश्यकता है। यह सच है कि पैसे देकर मां से मिलने वाले मानसिक, भावनात्मक, आत्मिक पोषण की भरपाई नहीं की जा सकती, लेकिन दुर्भाग्य से बच्चों का प्यार मां को तभी तक मिलता है, जब तक उनकी अपनी जिंदगी नहीं शुरू होती। बच्चे के बड़े होने के बाद यही मां इतनी अकेली पड़ जाती है कि बच्चों का मोहताज होना पड़ता है। इसीलिए युवावस्था में ही उसकी तनख्वाह बैंक में डाल दी जाए, ताकि जब उसे जरूरत न हो, तब भी उसका आत्म-सम्मान बरकरार रहे। 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:hindustan mansa vacha karmana column 02 november 2020