DA Image

अगली स्टोरी

संपादकीय

  • छत्तीसगढ़ के माओवाद प्रभावित इलाकों में हर चुनाव का दौर एक खतरनाक समय होता है। पिछले कुछ साल से यह खतरा ज्यादा ही बढ़ गया है। इस इलाके से सुरक्षा बलों पर हमलों की खबरें तो किसी भी समय पर आती रहती हैं,...

    Thu, 01 Nov 2018 12:38 AM IST Editorial Editorial India Editorial Articles अन्य...
  • बार-बार कहा जाता है कि यह भारत के सतर्क होने का समय है, लेकिन हमने तो जैसे सतर्क होना ही छोड़ दिया है। यही कारण है कि दुनिया के 20 सर्वाधिक प्रदूषित शहरों में से 14 भारत के हैं और इनमें भी सर्वाधिक...

    Tue, 30 Oct 2018 11:56 PM IST Hindustan Editorial Hindustan Column अन्य...
  • तख्ता पलट और उसके बाद हिंसा, श्रीलंका में रविवार देर रात सत्ता की लड़ाई में जिस तरह एक व्यक्ति को जान गंवानी पड़ी, उससे स्पष्ट हो गया कि एक नया राजनीतिक संकट इस देश के दरवाजे पर दस्तक दे चुका है। वैसे...

    Tue, 30 Oct 2018 12:33 AM IST Hindustan Editorial Hindustan Column अन्य...
  • नस्ल इन दिनों फिर से चर्चा में है। खासतौर पर सोशल मीडिया के आने के बाद नस्लवाद भी बढ़ा है और नस्ल को लेकर चलने वाले विवाद भी। सोशल मीडिया के अलावा आधुनिक नस्लवादियों ने एक और हथियार अपनाया है आनुवंशिक...

    Sun, 28 Oct 2018 10:43 PM IST Editorial Editorial India Editorial Article अन्य...
  • केंद्रीय जांच ब्यूरो यानी सीबीआई को लेकर इन दिनों देश में जो हो रहा है, वह चिंताजनक तो है ही, हास्यास्पद भी है। ऐसी चीजें हो रही हैं, जिनके बारे में कुछ दिन पहले तक किसी फंतासी में भी नहीं सोचा जा...

    Fri, 26 Oct 2018 11:53 PM IST Editorial Hindustan Editorial Hindustan Column
  • सचिन तेंदुलकर का सूरज जब पश्चिम की ओर बढ़ रहा था, वह विराट कोहली का उदय काल था। बेशक उस समय हम धौनी के धमाकों और वीरेंदर सहवाग की आतिशबाजी की अक्सर तारीफ करने को बाध्य होते थे, लेकिन सच यही है कि...

    Fri, 26 Oct 2018 01:06 AM IST Editorial Hindustan Editorial Hindustan Column
  • रात ढाई बजे जिस तरह केंद्रीय जांच ब्यूरो यानी सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजा गया, वह बताता है कि इस संस्था के विवाद ने सरकार की भी नींद हराम कर दी है। इसका यह संदेश भी साफ है कि अंतत:...

    Thu, 25 Oct 2018 12:20 AM IST Editorial Editorial India Editorial Article अन्य...
  • परंपराओं में भी और पौराणिक आख्यानों में भी, दीपावली को हर जगह प्रकाश पर्व ही कहा गया है। ऐसा त्योहार, जब देश का हर घर-आंगन रोशन हो जाता है। लेकिन पता नहीं कब और कैसे दीपावली को पटाखों और आतिशबाजी का...

    Wed, 24 Oct 2018 12:18 AM IST Editorial Editorial India Editorial Article अन्य...
  • चर्चा और विवाद उसके लिए कोई नई चीज नहीं हैं, इन दोनों के बीच में कई बार उसका खासा मजाक भी उड़ता रहा है। देश की सर्वोच्च जांच एजेंसी केंद्रीय जांच ब्यूरो यानी सीबीआई का नाम पिछली बार चर्चा में तब आया...

    Mon, 22 Oct 2018 11:38 PM IST Editorial Editorial India Editorial Article अन्य...
  • शंकाएं इसे लेकर कुछ ज्यादा ही हैं। यह डर बहुत से लोगों का सता रहा है कि आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस यानी कृत्रिम बुद्धि आई, तो लाखों- करोड़ों लोग बेरोजगार हो जाएंगे। खासकर दुनिया के श्रमिक संगठन इसे लेकर...

    Sun, 21 Oct 2018 11:31 PM IST Editorial Editorial India Editorial Article अन्य...
  • महिलाओं के यौन शोषण के खिलाफ चल रही ‘मी टू’ जैसी पहल और इसके सकारात्मक विस्तार लेने के साथ शुरू हुई बहसों और चिंताओं में पुराने मामलों पर आवाज उठाने की समय-सीमा का सवाल प्रमुख रहा और कई...

    Fri, 19 Oct 2018 11:58 PM IST Editorial Hindustan Editorial Hindustan Column
  • एनडी तिवारी

    वह 18 अक्तूबर, 2007 की मरियल दोपहर थी। अचानक मेरे मोबाइल फोन की घंटी बजी। कॉल रिसीव करते ही आवाज आई- ‘नमस्कार, मैं हैदराबाद से नारायण दत्त बोल रहा हूं।’ हैदराबाद से नारायण दत्त! दो सेकंड...

    Fri, 19 Oct 2018 07:23 AM IST Narayan Dutt Tiwari ND Tiwari Nd Tiwari Death अन्य...
  • इसे रेल क्षमता विस्तार की युगांतरकारी पहल कहें, लेह-लाहौल स्पीति जैसे बर्फीले इलाकों की जनता और जवानों की राहत या फिर सीमा पर बढ़ती चीनी दादागीरी को जवाब देने की रणनीतिक पहल, जो भी हो, यह सोच ही...

    Fri, 19 Oct 2018 12:34 AM IST Editorial Hindustan Editorial Hindustan Column
  • हैरत है कि यह सब उस प्रदेश में हो रहा है, जिसे सबसे ज्यादा साक्षर माना जाता है। शत-प्रतिशत साक्षर। केरल की साक्षरता से दुनिया के कई विकसित देश भी ईष्र्या कर सकते हैं। लेकिन भगवान अयप्पा के सबरीमाला...

    Wed, 17 Oct 2018 11:02 PM IST Editorial Editorial India Editorial Article अन्य...
  • महान लेखक शेक्सपियर का यह कथन अक्सर दोहराया जाता है कि नाम में क्या रखा है? लेकिन अपने देश में नाम सिर्फ नाम नहीं होता, इसके पीछे एक राजनीति होती है। इसलिए भारत में गलियों, सड़कों, मुहल्लों, शहरों और...

    Tue, 16 Oct 2018 09:45 PM IST Editorial Editorial India Editorial Article अन्य...

अगले जन्म में लिवर 32 देना

एक शराबी पति मरने ही वाला था कि तभी

उसके सामने भगवान शिव प्रकट हुए...

शिव जी- तुम्हारी कोई अंतिम इच्छा बताओ।

शराबी पति- प्रभु, अगले जन्म में दांत भले एक ही
देना, लेकिन लिवर पूरे 32 देना।