DA Image

साइबर संसाररास्ते बड़े साफ हैं

हफीज किदवई की फेसबुक वॉल सेPublished By: Manish Mishra
Mon, 24 May 2021 10:58 PM
रास्ते बड़े साफ हैं

एक कौम का लीडर बनना हमेशा आसान रहा है। एक संप्रदाय को थामकर कुछ ऊंचाई तक आसानी से चढ़ा जा सकता है। एक धर्म की भावनाओं के सहारे अपने कद को ऊंचा करते बहुत से हल्के लोगों को देखा है। यह गलत भी नहीं है, आसान रास्ता चुनने को कोई गलत कैसे कह सकता है? गलत तब होता है, जब यह रास्ता चुनते वक्त दूसरे को खत्म करने के विचार पनपने लगे। अब रही बात सबको साथ लेकर चलने की, तो उसके लिए जिगर, धैर्य, त्याग चाहिए और ये खूबियां सबमें नहीं होतीं। रास्ते बड़े साफ हैं। जिन्ना ने अपनी क्षमता को पहचानकर एक कौम का ठेका उठाया था। उन्हें भी पता था कि उनमें कुव्वत ही नहीं सबको साथ लेकर चलने की। यहां भी बहुतों ने एक धर्म का ठेका उठाया। इन्हें भी पता था कि वे सबको साथ लेकर चलने लायक नहीं। आज भी बहुत से लोग एक धर्म, एक जाति के सर्वेसर्वा आसानी से बन जाते हैं। सोशल मीडिया पर भी एक धर्म, जाति की बातें करके फॉलोअर बटोरना बड़ा आसान है, मुश्किल है सबकी बात करते हुए जगह बनाना। हद यह है कि मात्र एक ट्वीट से ये लाखों के फॉलोअर बटोर लेते हैं, एक जहर उगलती पोस्ट से कौम के सरपरस्त हो जाते हैं, पर सच पूछिए तो इनका चोटी का लीडर भी सबको साथ लेकर वालों के कद के आसपास नहीं ठहरता।
 

संबंधित खबरें