DA Image
साइबर संसार

क्रूर नीरो

बीबीसी वेब पोर्टल सेPublished By: Naman Dixit
Wed, 01 Sep 2021 03:11 AM
क्रूर नीरो

जब रोम जल रहा था, तब नीरो बांसुरी बजा रहा था, यह कहावत रोमन सम्राट नीरो के बारे में मशहूर है। नीरो पर रोम में आग लगवाने का आरोप भी लगाया जाता है और कहा जाता है कि उसने जान-बूझकर ऐसा किया। नीरो को एक ऐसे क्रूर शासक के रूप में जाना जाता है,  जिसने अपनी मां, सौतेले भाइयों और पत्नियों की हत्या कराई थी और अपने दरबार में मौजूद किन्नरों से शादियां कीं। सन 54 ईस्वी में केवल 16 वर्ष की आयु में नीरो अपनी मां के प्रयासों से एक ऐसे साम्राज्य का बादशाह बना, जिसकी सीमाएं स्पेन से लेकर उत्तर में ब्रिटेन और पूर्व में सीरिया तक फैली हुई थीं।
सिंहासन की भूखी नीरो की मां अग्रिपीना ने महल में साजिशें और जोड़तोड़ करके बेटे को सत्ता दिलाई थी। जब नीरो ने सत्ता संभाली, तब उसकी मां अग्रिपीना उसकी सबसे करीबी सलाहकार थीं, यहां तक कि रोमन सिक्कों पर नीरो की तस्वीर के साथ अग्रिपीना की तस्वीर भी होती थी। लेकिन सत्ता में आने के लगभग पांच साल बाद नीरो ने अपनी मां की हत्या करा दी, शायद इसलिए कि उसे अधिक शक्ति और स्वतंत्रता की हवस थी। नीरो की तरफ से अपनी मां पर किया गया हत्या का पहला प्रयास असफल रहा था। इसके बाद उसने अपनी मां पर बगावत का आरोप लगाया और लोगों को भेजकर उसकी हत्या करा दी।
 

संबंधित खबरें