DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साझी विरासत

हमने शून्य का आविष्कार किया, तो अरबों ने अल्जेब्रा दिया, चीनियों ने बारूद और छापाखाना; हम बिनाई जानते थे, तो अरब सिलाई, हम दोनों ने धोती उतार साथ-साथ पैंट पहनना सीखा, कपड़ा लपेटने की बजाय चोली-लहंगा और ब्लाउज पहना। पाइथागोरस ने जहां त्रिकोणमिति का आधार तैयार किया, तो वहीं न्यूटन ने कैल्कुलस... आर्किमिडीज ने जहां लीवर और वस्तु के पानी में तैरने की सैद्धांतिकी दी, तो वहीं जेम्स वाट ने भाप की शक्ति की, जर्मनी ने क्वांटम थियरी दी, तो अमेरिका ने बल्ब जलाया। ज्ञान और विचार संपूर्ण मानवता की साझा संपत्ति हैं, क्योंकि यह कोर्ई नहीं जानता कि किसने सबसे पहले यह समझा और समझाया कि रगड़ने से आग जलती है; पहिए का आविष्कार किसने किया, यह कोई नहीं जानता और कोई उस नर को भी नहीं जानता, जिसने सबसे पहले अपने दो हाथ मुक्त किए और मानव समाज की विकास यात्रा की सबसे बड़ी छलांग लगाई। ज्ञान हमारा दंभ तोड़ता है। यह हमें विनम्रता, सामाजिकता, सहकार, सहयोग, सहजीविता, परस्पर प्रेम और सम्मान सिखाता है। हमें एकाकी मानस द्वीप में निस्संग विहार की बजाय जनसंग की ऊष्मा से भरता है। ज्ञान-विज्ञान और विचार हमें कड़ी से लड़ी बनना सिखाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:cyber sansar hindustan column on 19 march