DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुबई के शौकीन

दुबई एक खास शहर है। यहां की इमारतें खास हैं। यहां की सड़कें खास हैं। यह शान-ओ-शौकत दिखाने वाला शहर है। यहां के रईस शेख महंगी चीजों के शौकीन होते हैं। दुबई की सड़कों पर सुपर लग्जरी गाड़ियां फर्राटा भरती हैं और उन गाड़ियों के नंबरप्लेट लाखों के हैं। कुछ खासमखास नंबरों के लिए तो करोड़ों रुपये खर्च किए गए हैं। दुबई के शौकीनों को सबसे अलग लाइसेंस प्लेट चाहिए और कार तो सबसे खास होनी ही चाहिए। 35 साल के मोहम्मद अल-मरजूकी विंटेज कारों के शौकीन हैं। उन्होंने अपनी गाड़ियों के स्पेशल नंबर के लिए खुले दिल से करोड़ों रुपये खर्च किए हैं। अल-मरजूकी के पास आलीशान गाड़ियों का काफिला है और 11 स्पेशल नंबरप्लेटें हैं।  लाल रंग की फेरारी का नंबर 8888 है। यह उनकी गाड़ियों के बेड़े का सबसे खास नंबर है। अल-मरजूकी कहते हैं, ‘यह मुझे छह लाख दिरहम (करीब एक करोड़, 74 लाख रुपये) में मिला था।’
संयुक्त अरब अमीरात में सबसे ज्यादा आबादी वाले इस शहर में आलीशान चीजों की भरमार है। वीआईपी नंबरप्लेट उन्हीं में से एक है। साल 2008 में दुबई में एक नंबर वाला लाइसेंस प्लेट एक करोड़, 42 लाख डॉलर में नीलाम हुआ था। आज की कीमत पर यह रकम भारतीय मुद्रा में 100 करोड़ रुपये से भी ज्यादा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:cyber sansar Hindustan column on 11 january