DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ओशो का सिंहलद्वीप

वाइल्ड वाइल्ड कंट्री एक दिलचस्प डॉक्यूमेंट्री सीरीज है। यह श्री रजनीश के भगवान और फिर ओशो बनने की कहानी तो है ही, अमेरिका के ओरेगॉन में रजनीशपुरम के बनने और उजड़ने की त्रासद दास्तान भी है। नेटफ्लिक्स पर इसे देखकर आप रजनीश के प्रति पहले से अधिक उदार और सहानुभूतिशील भी हो सकते हैं। अमेरिका की आधुनिकता, लोकतंत्र और संविधानवाद के कारण श्री रजनीश ने वहां अपना सिंहलद्वीप बनाने की कोशिश की और कामयाब भी हुए। उजाड़ को जन्नत में बदलने का यह प्रयोग मनुष्यता के इतिहास में अनोखा है। पर रजनीश की दिक्कत भी वही थी, जो सभी भाववादी स्वप्नदर्शियों की होती है। वह दुनिया के नरक के बीचोबीच छोटा-सा प्राइवेट स्वर्ग बना लेने के सपने देखते हैं। वे सभी यही उपदेश देते हैं कि अपने आप को बदलो, जागृत करो। दुनिया इसी से बदलेगी। दुनिया को बदलने चलोगे, तो कहीं के न रहोगे। मगर आप भले दुनिया को उसके हाल पर छोड़ दें, दुनिया तो नहीं छोडे़गी। रजनीशपुरम के साथ भी वही हुआ। ओरेगॉन के पुराने वासियों और अमेरिकी भद्रलोक को लगने लगा कि अमेरिकी जीवन शैली व ईसाइयत खतरे में है। वे निहायत कानूनी तरीके से अपने ही संविधान की हत्या करने मेें जुट गए और रजनीशपुरम का आनंदलोक खंडित हो गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:cyber sansar hindustan column on 12 september