DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इमरान की चाल

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी को मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में गिरफ्तार करवाकर इमरान खान ने एक तीर से दो शिकार करने की कोशिश की है। एक तरफ तो वह पाकिस्तान की गिरती अर्थव्यवस्था और रोज बढ़ती महंगाई से आम लोगों का ध्यान हटाकर राजनीति को बहस के केंद्र में लाना चाहते हैं, वहीं दूसरी तरफ विपक्षी दलों को भ्रष्टाचारी सिद्ध करके वह अपने शासन को, जो कि अभी तक अर्थव्यवस्था, विदेश नीति और कानून-व्यवस्था के मोर्चे पर खासी विफल रही है, बचाना चाह रहे हैं। ‘जरदारी की गिरफ्तारी के निहितार्थ’ शीर्षक आलेख में वरिष्ठ लेखक सुशांत सरीन ने पाकिस्तान की घरेलू राजनीति के विरोधाभासों की बखूबी व्याख्या की है। इमरान विपक्ष को कमजोर करके कुछ समय के लिए भले निश्चिंत हो जाएं, पर देश के समक्ष खड़ी गंभीर समस्याएं उनकी सरकार को भी ले डूबेंगी। (चंदन कुमार, देवघर)

भ्रष्टाचार से लड़ाई 
भ्रष्ट तरीके अपनाने के कारण उच्च पदों पर आसीन सरकारी अधिकारियों को जबरन सेवा से रिटायर किया जाना एक अच्छा कदम तो माना जा सकता है, परंतु भ्रष्टाचार की गंभीर और पुरानी बीमारी से केवल ऐसे कदमों के सहारे दो-दो हाथ नहीं किया जा सकता। जीवन का शायद ही कोई क्षेत्र हो, जहां किसी न किसी रूप में भ्रष्टाचार न होता हो। इसकी रोकथाम के लिए हमें शासन के स्तर पर पारदर्शिता पर बल देना होगा, भ्रष्टाचार से जुड़े मुकदमों को शीघ्रता से निपटाना होगा और कठोर दंड की व्यवस्था करनी होगी, पर यह भी सच है कि बिना जन-सहयोग के इस बीमारी की रोकथाम नहीं हो सकती। (रामप्रकाश शर्मा, वसुंधरा)

कमी खलेगी शिखर की
भारत के लिए यह तगड़ा झटका है, क्योंकि शिखर धवन ने बीते रविवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 109 गेंदों पर 117 रनों की शानदार पारी खेली थी। धवन को इसी मैच में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज नाथन कल्टर की गेंद पर बाएं अंगूठे में चोट लगी थी। चोट के बावजूद वह आउट होने तक खेलते रहे। इस चोट के कारण ही धवन फील्डिंग नहीं कर पाए थे। बाद में पता चला कि अंगूठे में फ्रैक्चर है। टीम इंडिया विश्व कप में अब तक दो मैच ही खेल पाई है। शिखर धवन के नहीं होने से कप्तान कोहली को रोहित शर्मा के साथ किसी नए ओपनर की तलाश करनी होगी। शिखर ने भारत के लिए 130 इंटरनेशनल वनडे खेले हैं और 44 की औसत से 5,480 रन बनाए हैं। टीम का मुकाबला न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, वेस्ट इंडीज और इंग्लैंड से है। जाहिर है, इनसे शिखर बाहर रहेंगे। उनकी गैर-मौजूदगी में रोहित शर्मा के साथ के एल राहुल ओपनिंग कर सकते हैं। लेकिन राहुल यदि ओपनर के तौर पर आते हैं, तो कप्तान को चौथे नंबर के लिए सोचना होगा। शिखर धवन की जगह भरने के लिए ऋषभ पंत और मुंबई के खिलाड़ी श्रेयस अय्यर की बात चल रही है। देखते हैं, किसकी किस्मत खुलती है। (प्रियंबदा, गोरखपुर, उत्तर प्रदेश)

अब शिक्षित-दर पर बात हो
हमारे देश में ‘साक्षरता-दर’ की गूंज सदैव सुनाई पड़ती है। लेकिन अब समय आ गया है कि ‘शिक्षित-दर’ पर विचार किया जाए। ‘साक्षर’ यानी अक्षर का ज्ञान। ‘शिक्षित’ यानी शिक्षा के क्षितिज पर पहुंचना। आजादी के सात दशकों के बाद भी हम साक्षरता दर का ही ढिंढोरा पीटते रहे, तो हमारा देश विकासशील देश से निकलकर कब विकसित देशों की श्रेणी में पहुंचेगा? नई बहुमत वाली सरकार से हम इसकी अपेक्षा कर सकते हैं। सच तो यह है कि ‘स्किल इंडिया’ का नारा तब तक सफल नहीं होगा, जब तक कि ‘शिक्षित दर’ में वृद्धि का पैमाना तैयार नहीं किया जाएगा। इससे रोजगार के अवसर स्वयं बढ़ेंगे और देश विकास की ऊंचाइयों पर चढ़ने में सक्षम होगा। (संजय चंद, न्यू एरिया, हजारीबाग)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Hindustan Mail Box Column on 13th June