Water in the city low-lying island - शहर में पानी, निचले इलाके बने टापू DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहर में पानी, निचले इलाके बने टापू

शहर में पानी, निचले इलाके बने टापू

शहर के ऊंचे क्षेत्रों से निकला बरसात का पानी और नहर के सिपेज से निचले इलाकों में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं। वार्ड 4 में बसे कई घरों की स्थिति टापू जैसी बन गई है। खासकर पुलिस लाइन और उसके आसपास बसे मोहल्लों में एक से दो फीट तक पानी पिछले दो दिनों से जमा है। शनिवार को पानी का स्तर और ही बढ़ गया।

फिलहाल पुलिस लाइन, सीएमआर गोदाम में लगभग दो फीट पानी लगा है। शनिवार को पीएसएस परिसर में भी पानी प्रवेश कर गया था। सबसे खराब की स्थिति पुलिस लाइन की है। भीषण जलजमाव की समस्या से जूझ रहे पुलिस लाइन की सेहत में कोई सुधार नहीं हुआ है। लगातार दूसरे दिन भी पुलिस लाइन परिसर में बरसात का जमा पानी जस का तस रहा।

स्थिति की भयावहता को इससे भी समझा जा सकता है कि शनिवार को पानी का स्तर और बढ़ गया था। हालांकि जवानों के आग्रह के बाद डीएम महेन्द्र कुमार के निर्देश पर शनिवार दोपहर बाद से नगर परिषद द्वारा पानी निकालने का प्रयास शुरू कर दिया गया है। लेकिन पानी की निकासी नहीं हो पा रही है।

उधर, सीएमआर गोदाम परिसर में रोज पानी का फ्लो बढ़ रहा है। इससे पूरे परिसर में दो फीट पानी का जमाव हो गया है। इसके कारण सीएमआर गोदाम में अनाज लाने और ले जाने का काम प्रभावित हो रहा है।

उधर, पुलिस लाइन के आसपास बसे मोहल्ले के लोगों का कहना था कि उनके इलाके में बिन बरसात पिछले कई साल से यही स्थिति हो जाती है। पता नहीं कहां का पानी यहां आकर जम जाता है और फिर महीनों इसी तरह जलजमाव की समस्या से उन्हें दो-चार होना पड़ता है। लोगों में इस बात को लेकर भी आक्रोश था कि जल निकासी और जलजमाव से निजात दिलाने को लेकर नगर परिषद ने आज तक कोई ठोस योजना नहीं बनाई।

पिपरा रोड स्थित सीएमआर गोदाम में शनिवार को इस तरह जमा हुआ था पानी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Water in the city low-lying island