Friday, January 28, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार सुपौल राघोपुर-ललितग्राम रेलखंड पर 100 की रफ्तार से चलेगी ट्रेन

राघोपुर-ललितग्राम रेलखंड पर 100 की रफ्तार से चलेगी ट्रेन

हिन्दुस्तान टीम,सुपौलNewswrap
Sun, 28 Nov 2021 03:51 AM

राघोपुर-ललितग्राम रेलखंड पर 100 की रफ्तार से चलेगी ट्रेन

सुपौल | हिन्दुस्तान संवाददाता

नवनिर्मित राघोपुर-ललितग्राम रेलखंड पर सौ किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेन चलाने की अनुमति मिल गई है। पीसीसीआरएस शैलेश कुमार पाठक से अनुमति मिल गई है। इस आशय का पत्र मुख्यालय को चीफ इंजीनियर निर्माण सुशील कुमार ने दी है। पत्र में उन्होंने लिखा है कि नई ब्रॉडगेज राघोपुर-ललितग्राम रेलखंड पर अधिकतम 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से यात्री और गुड्स ट्रेन परिचालन के संबंध में चीफ कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी ने अनुमति दी है। चीफ कमिश्नर ऑफ सेफ्टी ने तीन पुल 113/6-7, 120/1-3 और 122/8-9 पर 75 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से ट्रेन परिचालन करने को कहा है। बता दें कि 25 नवंबर को ही चीफ सीआरएस ने राघोपुर-ललितग्राम नवींर्मित रेलखंड का निरीक्षण किया था। इस दौरान 120 की स्पीड से ललितग्राम से राघोपुर तक ट्रायल किया गया था।

राघोपुर से ललितग्राम के बीच 11 बड़े और 26 छोटे पुलों का भी उन्होंने जायजा लिया था। सूत्रों की मानें तो सीआरएस से ट्रेन परिचालन के लिए हरी झंडी मिलते अब रेलवे बोर्ड से परिचालन शुरू होने की तिथि आने का इंतजार है। संभावना जताई जा रही है कि जल्द ही सहरसा से ललितग्राम तक ट्रेनों का परिचालन शुरू हो जाएगा। बता दें कि उप मुख्य अभियंता निर्माण संजय कुमार की मॉनिटरिंग में सरायगढ़ से राघोपुर और राघोपुर से ललितग्राम तक आमान परिवर्तन कार्य पूरा किया गया है। पहले भी निरीक्षण के बाद चीफ सीआरएस ने सरायगढ़-राघोपुर रेलखंड पर भी 100 की स्पीड से ट्रेन चलाने की अनुमति दी थी।

सालों का इंतजार खत्म, ट्रेन चलने का रास्ता हुआ साफ

इंतजार की घड़ी अब खत्म हो गंई है। जल्द ही राघोपुर-ललितग्राम रेलखंड पर यात्री ट्रेनों की सिटी सुनाई देगी। सहरसा और सुपौल से रेल के जरिए कोसी क्षेत्र के इस इलाके का सीधा जुड़ाव हो जाएगा। यह सामरिक दृष्टिकोण से काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। बता दें कि पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक अनुपम शर्मा, सीएओ पवन गोयल और समस्तीपुर मंडल के डीआरएम आलोक अग्रवाल राघोपुर-ललितग्राम आमान परिवर्तन से जुड़े कार्यों को पूरा करने के लिए लगातार मॉनिटरिंग कर रहे थे। डिप्टी चीफ इंजीनियर संजय कुमार की देखरेख में निर्माण कार्य तेजी से चल रहा था। सूत्रों की माने तो जिन तीन पुल पर 75 की स्पीड से ट्रेन चलाने की चीफ सीआरएस ने अनुमति दी है। इससे पहले राघोपुर-ललितग्राम रेलखंड पर छोटी लाइन की ट्रेन महज 30 की स्पीड में चलती थी।

epaper

संबंधित खबरें