Teachers are not afraid of government threats - शिक्षक सरकार की धमकी से डरने वाले नहीं DA Image
14 दिसंबर, 2019|10:44|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षक सरकार की धमकी से डरने वाले नहीं

त्रिवेणीगंज (सुपौल)। निज प्रतिनिधि

बिहार राज्य प्रारंभिक शिक्षक संघ (गोपगुट) की बैठक शुक्रवार को हाई स्कूल परिसर में हुई। इसकी अध्यक्षता प्रखंड अध्यक्ष अरूण कुमार आर्य ने की। बैठक में संघ के रिक्त पदों पर चयन किया गया। इसमें सर्वसम्मति से अखिलेश बहादुर अनुमंडल संयोजक, सुमन कुमारी उपाध्यक्ष, प्रणव कुमार कार्यालय सचिव, कृष्ण कुमार और रीता कुमारी जिला प्रतिनिधि चुने गए। सचिव संतोष कुमार ने कहा कि आज नियोजित शिक्षक कई समस्याओं से जूझ रहे हैं। इसमें सातवें वेतन फिक्सेशन और सेवा पुस्तिका का संधारण प्रमुख है। विभागीय अधिकारियों की मनमानी से शिक्षक परेशान हैं। खासकर 2015 के पे फिक्सेशन स्लिप और सेवा पुस्तिका को नहीं खोज कर शिक्षकों का भयादोहन किया जा रहा है। पे फिक्सेशन और सेवापुस्त संधारण के नाम पर लूट और भय का वातावरण बनाया जा रहा है। शिक्षकों को विगत पांच माह से वेतन नहीं मिलने से भुखमरी की नौबत आ गयी है। शिक्षक दाने-दाने को मोहताज हैं। उन्होंने पिछले सप्ताह सिमराही में मुख्यमंत्री को काला झंडा दिखाने के मामले में निर्दोष शिक्षकों को जबरन फंसाने की निंदा करते हुए कहा कि अगर ऐसी फर्जी कार्रवाई में बिना वजह शिक्षक को फंसाया गया तो संघ चुप नहीं बैठेगा। इसके विरोध में उग्र आंदोलन किया जाएगा। अनुमंडल संयोजक अखिलेश बहादुर ने कहा कि अब नियोजित शिक्षक सरकार की धमकी से डरने वाले नहीं है। शिक्षक सरकारी वादा खिलाफी से तंग आकर आर पार की लड़ाई के मूड में है। बैठक में डॉ. गौरीशंकर प्रसाद, फूलदेव कुमार, रीता कुमारी, सुमन कुमारी, कृष्ण कुमार, प्रणव कुमार, प्रमोद राम, किशोर कुमार, दिलीप कुमार, सुरेश कुमार आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Teachers are not afraid of government threats