DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लीला हत्याकांड में सास को सात साल की सजा

दहेज के कारण बहू की हत्या कर दिये जाने के मामले में बुधवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुरेन्द्र प्रसाद पांडे की कोर्ट ने सास शनिचरी देवी को सात साल सश्रम कारावास और पांच हजार अर्थदंड की सजा सुनायी।

त्रिवेणीगंज के भूड़ा निवासी सूर्य नारायण यादव के पुत्री लीला देवी की शादी मार्च 2006 में राज कुमार यादव के साथ हुई थी। शादी के कुछ दिन बाद बाद लीला मायके आ गयी। तीन-चार महीने बाद जब ससुराल लौटकर गयी तो उसे दहेज लाने के लिए प्रताड़ित किये जाने लगा।

लीला ने अपने पिता को इसकी सूचना दी। बेटी की बात सुन पिता ने दो हजार रुपया भी भेजा। 14 नवंबर 2007 को लीला के भाई प्रवीण कुमार संदेश लेकर उसके ससुराल गया। 15 नवम्बर 2007 को लालबिहार खूंट से किसी ने लीला के पिता फोन किया कि उनकी बेटी की हत्या 14 नवम्बर की रात में कर दी गयी। आनन-फानन में लीला के पिता और चाचा लालबिहार खंूट पहुंचे तो घर में ताला लगा हुआ था और सभी लोग फरार थे। इस मामले में कुल 9 लोगों को आरोपी बनाया गया था लेकिन पूरक मामला होने के कारण कोर्ट में केवल शनिचरी देवी का ही केस चल रहा था। अन्य आरोपी का केस दूसरे कोर्ट में चल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Seven years sentence in Leela murder case