DA Image
1 सितम्बर, 2020|4:15|IST

अगली स्टोरी

शहर में पार्किंग नहीं, सड़क पर ही लगते हैं वाहन

शहर में पार्किंग नहीं, सड़क पर ही लगते हैं वाहन

शहर की सभी प्रमुख सड़कों पर अतिक्रमण यात्रियों की राह रोक रहा है। इसकी मुख्य वजह न सिर्फ दुकानदारों द्वारा अतिक्रमण बल्कि अवैध पार्किंग भी है। कभी-कभार प्रशासन अतिक्रमण के खिलाफ अभियान तो चलाता है लेकिन अवैध पार्किंग की ओर ध्यान नहीं जाता है। इसके चलते जाम से वाहन चालक और राहगीर परेशान रहते हैं। वाहन मालिकों का कहना है कि शहर में कहीं भी पार्किंग की व्यवस्था नहीं है। इसके कारण मजबूरी में सड़क किनारे छोटे-बड़े वाहनों को लगाकर काम निपटाते हंै। अवैध पार्किंग के खिलाफ अभियान तब सफल होगा जब शहर में प्रशासन पार्किंग की व्यवस्था करेगा। कनेक्टिविटी के नाम पर सड़क पर उतारे गए हजारों ई रिक्शा भी अब जाम का सबब बन रहे हैं। सड़कों पर ई रिक्शा चालकों की मनमानी चलती है। सभी चौक-चौराहों पर ई रिक्शा चालक सड़क पर ही वाहन खड़ा कर सवारी का इंतजार करते हैं। ई-रिक्शा इस तरह खड़े रहते हैं कि इनसे पूरी सड़क पर यातायात प्रभावित होती है।

शाम में पैदल चलना भी होता है मुश्किल : शहर के पटेल चौक से स्टेशन चौक जाने वाली सड़क में अवैध पार्किंग से शाम में पैदल चलना भी मुश्किल हो जाता है। जहां-तहां टेम्पो खड़े रहते हैं। कभी-कभार तो सड़क पर ही टेम्पो खड़ा कर सवारी को चढ़ाया और उतारा जाता है। ऐसे में अगर चार पहिया वाहन आ जाए तो निकलने के लिए जगह नहीं बचती है।

सदर अस्पताल परिसर बना वाहन पड़ाव स्थल : सदर अस्पताल परिसर से न तो अतिक्रमण हटाने में सफलता मिल रही है और न ही अवैध वाहन पार्किंग से। डीएम से लेकर एसडीम तक इसके लिए आदेश जारी कर चुके हैं लेकिन सदर अस्पताल परिसर में निजी एम्बुलेंस के अलावे दर्जनों बाहरी वाहन भी पूरे दिन खड़े किए जाते हैं। स्थिति तो यह है कि पहली नजर देखने पर अस्पताल परिसर अस्पताल कम वाहनों का पड़ाव स्थल अधिक दिखता है। कई दिन तो दर्जनों ऑटो, ई रिक्शा और निजी वाहन भी लाकर अस्पताल परिसर में लगा दिया जाता है। कुछ वाहन चालक सड़क किनारे ही वाहन लगाकर चले जाते हैं।

शहर में पार्किंग की सुविधा नहीं रहने के कारण सड़क पर खड़ी बाइकें। फोटो: हिन्दुस्तान

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:No parking in the city vehicles are installed on the road