DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › सुपौल › शहर में जमा पानी निकालने में हांफ रहा नप
सुपौल

शहर में जमा पानी निकालने में हांफ रहा नप

हिन्दुस्तान टीम,सुपौलPublished By: Newswrap
Wed, 01 Sep 2021 05:21 AM
शहर में जमा पानी निकालने में हांफ रहा नप

सुपौल | हिन्दुस्तान संवाददाता

शहर में पिछले दिनों हुई बारिश ने नगर परिषद के इंतजाम की पोल खोलकर रख दी है। कई जगह नालियों के जाम होने या उफनाने से शहर के अधिकांश मोहल्लों में जलजमाव से निजात नहीं मिली है। सड़कों के अलावा कुछ मोहल्ले में लोगों के घरों में भी पानी घुसा हुआ है।

मुख्य और सहायक नाला जाम रहने से शहर के कई मोहल्ले डूबे हुए हैं। जिन जगहों पर जेसीबी चला, वहां भी सड़क से लेकर मोहल्ले तक पानी ही पानी नजर आने लगा है। शहरी क्षेत्र के आधा दर्जन मोहल्लों में लोगों के घरों में पानी घुसने से उनकी मुश्किलें बढ़ गई है। खासकर वार्ड 26 में कब्रगाह के पास का इलाका, वार्ड 19 का मोमीन टोला, वार्ड 25 का सार्वजनिक हाट रोड, भूतही पोखर, खोखनाहा पुनर्वास, चकला निर्मली, झखराही मोहल्ला सहित कई मोहल्लों में जलजमाव से मोहल्लेवासी कई दिनों से परेशान हैं।

खासकर ठाकुरबाड़ी रोड, गांधी मैदान रोड सहित सभी जगहों पर मुख्य सड़क से लेकर मोहल्लों तक पानी अटका हुआ है। जमे पानी की निकासी में नगर परिषद हांफने लगा है। सोमवार को झखराही में मोहल्ला में कच्चा नाला और उड़ाही के बाद भी बारिश का पानी नहीं निकल रहा है। इसके लिए लोग सीधे-सीधे नगर परिषद को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

अधूरे ड्रेनेज के चलते नहीं निकल रहा पानी: शहर में जलजमाव से लोगों की मुसीबत बढ़ती जा रही है। फिलहाल पानी निकासी का रास्ता बंद है। शहर के बस स्टैंड के पास ड्रेनेज के अधूरे निर्माण के कारण पानी निकलने का कोई रास्ता नहीं है। निर्माण के दौरान जगह-जगह मिट्टी डालने से नाला बंद है।

इसके अलावा रेलवे का हंटर भी सिकुड़ गया है और निकासी प्वाइंट पर कचरा डंप होने से पानी निकलने का रास्ता बंद है। ऐसे में रेलवे से पूर्वी इलाके के मोहल्लों में जलजमाव की समस्या विकराल हो सकती है। उधर, मौसम विभाग ने 1 सितंबर तक बारिश का अलर्ट जारी किया गया। मौसम वैज्ञानिक एसके सुमन ने बताया कि बुधवार को भी कुछ इलाकों में हल्की से मध्यम स्तर की बारिश होने का अनुमान है।

संबंधित खबरें