DA Image
28 फरवरी, 2021|10:07|IST

अगली स्टोरी

कृषि कानून के विरोध में 27 जनवरी से आंदोलन

default image

छातापुर (एप्र)। कृषि कानून के विरोध में भाकपा अंचल परिषद के कार्यकर्ताओं की बैठक मंगलवार को सोहटा पंचायत में हुई। इसकी अध्यक्षता बाबूलाल उरांव ने की। बैठक में अंचल परिषद के सचिव रघुनंदन पासवान ने आगामी आंदोलन के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार को किसान, मजदूर और गरीब विरोधी बताया। कहा कि पूंजीपतियों और कॉरपोरेट घराने को लाभ पहुंचाने के लिए नया कृषि कानून लाया गया है। इसके विरोध में किसानों और वामदलों का आंदोलन पिछले 50 दिनों से चल रहा है। तीनों कृषि कानून को वापस लेने तक किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। बताया कि कृषि कानून और राज्य में व्याप्त भ्रष्टाचार, महंगाई, बढ़ते अपराध, बेरोजगारी, सरकार के जनविरोधी नीतियों के विरोध में महागठबंधन द्वारा 27, 28 और 29 जनवरी को त्रिवेणीगंज अनुमंडल कार्यालय के पास धरना प्रदर्शन किया जाएगा। साथ ही 30 जनवरी को जनसहभागिता से मानव शृंखला का निर्माण किया जाना है। उन्होंने कार्यकर्ताओं से इसे सफल बनाने का अनुरोध किया। मौके पर बीबी गुलशन, चंद्रदीप सरदार, लगनदीप सरदार, सरयूग सरदार, राजेंद्र, अमरेश, सीतानंद शर्मा आदि मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Movement against agricultural legislation from 27 January