DA Image
5 अगस्त, 2020|9:54|IST

अगली स्टोरी

माले कार्यकर्ताओं ने निकाला नकारा मार्च

माले कार्यकर्ताओं ने निकाला नकारा मार्च

माले नेताओं ने शुक्रवार को स्थानीय कार्यालय से निकलकर चिलौनी ऑटो स्टैंड तक स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय की बर्खास्तगी और कोरोना की व्यापक जांच को लेकर नकारा मार्च निकाला।

माले के जिला सचिव जय नारायण यादव ने कहा कि आज पूरे बिहार में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इलाज के अभाव में लोग बेमौत मारे जा रहे हैं। उधर, भाजपा-जदयू की सरकार चुनाव खेलने में व्यस्त है। छह महीने बीत गए हैं लेकिन सरकार ने जांच, इलाज, रोजी-रोजगार किसी मामले में उल्लेखनीय काम नहीं किया है। सब कुछ भगवान भरोसे छोड़ दिया है। कहा कि गृह विभाग के उप सचिव उमेश रजक की मौत आईजीआईएमएस और एनएमसीएच एम्स के बीच दौड़ लगाते हो गई। एमएलसी सुनील कुमार सिंह इस बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था में अपनी जान गंवा बैठे।

माले जिला कमेटी के सदस्य डॉ. अमित कुमार ने कहा कि बीमारी के फैलाव को देखते हुए सभी जिला, अनुमंडल अस्पतालों में बेहतर इलाज और आईसीयू की व्यवस्था होनी चाहिए। माले नेता दुर्गी सरदार ने कहा कि जनता के बीच सेनिटाइजर और साबुन लापता है। उधर, बाढ़ पीड़ितों में कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे को बर्खास्त किया जाए। मार्च में कपिलेश्वर यादव, विनोद कुमार, खुशबू कुमारी, संदीप सरदार, शंकर कुमार, मिथुन कुमार आदि शामिल थे।

त्रिवेणीगंज में गुरुवार को नकारा मार्च में शामिल माले कार्यकर्ता। फोटो: हिन्दुस्तान