DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  सुपौल  ›  शुल्क महीने भर का, सेवा दस दिन ही

सुपौल शुल्क महीने भर का, सेवा दस दिन ही

हिन्दुस्तान टीम,सुपौलPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 05:21 AM

शुल्क महीने भर का, सेवा दस दिन ही

सुपौल। नगर परिषद में पिछले डेढ़-दो महीने से कचरा प्रबंधन के नाम पर आउटसोर्सिंग एजेंसी खानापूरी कर रही है। आलम यह है कि डोर टू डोर कचरा उठाने के लिये शुल्क तो महीने भर का वसूला जा रहा है लेकिन घरों से कचरा का उठाव मुश्किल से दस से पंद्रह दिन ही होता है।ऐसे में शहरवासी डोर टू डोर कचरा उठाव के दावे पर सवाल उठाने लगे हैं। मोहल्लेवासियों का कहना है कि सप्ताह में एक-दो दिन ही कचरा संग्रहण करने के लिये नगर परिषद की गाड़ी आती है। ऐसे में घरों में कचरा सड़ने लगा है जिससे दुर्गंध निकलने लगती है। मजबूरन लोग सड़क किनारे सड़े-गले कचरे को फेंक देते हैं। नगर परिषद के आंकड़ों के मुताबिक 28 वार्ड में 14380 परिवार चिन्हित हैं जहां से डोर टू डोर कचरा संग्रह करना है। इसमें से 10195 परिवार को सूखा और गीला कचरा अलग-अलग रखने के लिए डस्टबीन भी दी गई है। इन परिवारों से आउटसोर्सिंग एजेंसी प्रत्येक महीने कचरा उठाव के एवज में करीब 3 लाख 5 हजार रुपया शुल्क के रूप में लेते हैं।

संबंधित खबरें