DA Image
12 जुलाई, 2020|2:17|IST

अगली स्टोरी

प्रखंडों में नहीं हो रही गेहूं खरीद

default image

गेहूं खरीद शुरू होने की तय तिथि के 12 दिन बीत चुके हैं, पर एक-दो क्रय केन्द्रों को छोड़ जिले में खरीद कहीं नहीं हो रही है। किसान कोरोना संकट में बीच मजबूरन औने-पौने दाम में गेहूं बेच रहे हैं। सहकारिता विभाग के मुताबिक सोमवार तक महज पांच किसानों से 325.40 क्विंटल गेहूं की खरीदी गई। इसमें पिपरा, राघोपुर और बसंतपुर व्यापार मंडल में गेहूं खरीद की प्रक्रि या शुरू हुई है। किसानों की मानें तो कोरोना महामारी से उत्पन्न हालात के बीच ज्यादातर कियान गेहूं स्टोर करने की स्थिति में नहीं हैं। किसानों की मानें तो पैक्स तक गेहूं लाने में किसानों को प्रति क्विंटल 60 से 70 रुपए खर्च आता है। मार्केट में 1850 से 1870 रेट है। इसके चलते भी किसान पैक्स और व्यापार मंडल के माध्यम से गेहूं बेचने में रूचि नहीं ले रहे हैं।