ash of atal will be floted in two hundred rivers - देश के दो सौ नदियों में विसर्जित होंगी अटल जी की अस्थियां : मंत्री DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देश के दो सौ नदियों में विसर्जित होंगी अटल जी की अस्थियां : मंत्री

देश के दो सौ नदियों में और राज्य के अलग-अलग हिस्सों में 11 अस्थि कलश रथ निकाली गयी है। इसे 17 नदियों में प्रवाहित किया जायेगा। पीएचईडी मंत्री विनोद नारायण झा ने कहा। शनिवार को आईबी में पत्रकारों से बातचीत करते मंत्री श्री झा ने कहा कि मैथिली को स्वतंत्र भाषा की मान्यता दिलाकर अटल बिहारी वाजपेयी ने मिथिलांचल और कोसी के लोगों का जो सम्मान किया उसे यहां के लोग कभी नहीं भूल सकते हैं। उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में राजनेताओं के प्रति इतना सम्मान शायद पहली बार देखने को मिल रहा है। कवि ह्दय के अटल जी दुश्मनी के भाव से राजनीति नहीं किये। परमाणु परीक्षण और कारगिल युद्ध में विजय को याद कर आज भी लोगों की आंखे भर जाती है। यही अटल बिहारी वाजपेयी की सबसे बड़ी पहचान थी। उन्होंने कहा कि कोसी और मिथिलांचल के लोग ताउम्र अटल जी को नहीं भूल सकते है। सालों से टूटे संबंध को अटल जी ने जोड़कर जो सौगात दिया भला उसे कौन भूल सकता है। पहले मधुबनी के लोगों को दिल्ली जाना आसान था लेकिन सुपौल आना काफी कठिन लेकिन अब सुपौल ही नहीं देश के किसी भी जगह पर जाने के लिए लोगों को सोचना नहीं पड़ता है। मंत्री श्री झा ने कहा कि 1998 से 20 साल पहले अगर अटल जी प्रधानमंत्री बनते तो देश सर्वोच्च शिखर पर होता। उन्होंने कहा कि जब वे प्रधानमंत्री बने तो गांव के लोग सड़क नहीं जानते थे। उन्होंने गांवो को लोगों को दर्द को दूर करने के लिए सबसे पहले सड़क निर्माण कराना शुरू किया। इसी का नतीजा है कि आज गांव-गांव में सड़के बन गयी है। शनिवार की सुबह आईबी से अस्थि कलश मधेपुरा के लिए रवाना हुआ जो सहरसा होते हुए बलुआ पुल में प्रवाहित की जायेगी। मौके पर विधायक नीरज कुमार सिंह, पूर्व सांसद विश्वमोहन कुमार, प्रभारी राजेश वर्मा, सह प्रभारी सजल झा, राकेश मिश्रा, जिलाध्यक्ष राम कुमार राय, नागेन्द्र नारायण ठाकुर, डॉ. विजय शंकर चौधरी, प्रवक्ता सुमन चंद, सुरेश कुमार सुमन, रंधीर ठाकुर, प्रकाश झा, महेश देव, रितु रागिनी, विनित सिंह, आलोक चौधरी, नलीन जायसवाल, सुनील कुमार आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ash of atal will be floted in two hundred rivers