ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारहोटल में नाश्ता करती रह गई महिला; चोरी हो गया डेढ़ साल का मासूम, CCTV खंगाल रही पुलिस

होटल में नाश्ता करती रह गई महिला; चोरी हो गया डेढ़ साल का मासूम, CCTV खंगाल रही पुलिस

पटना जंक्शन के पास डेढ़ साल के मासूम के चोरी होने की घटना सामने आई है। जिसे उस वक्त अंजाम दिया गया। जब महिला अपने बच्चे को सुलाकर होटल में खाना खा रही थी। उसी दौरान ये वारदात घटी।

होटल में नाश्ता करती रह गई महिला; चोरी हो गया डेढ़ साल का मासूम, CCTV खंगाल रही पुलिस
Sandeepमुख्य संवाददाता,पटनाSat, 25 May 2024 08:53 AM
ऐप पर पढ़ें

राजधानी पटना में कोतवाली थानांतर्गत पटना जंक्शन के समीप स्थित एक होटल से शुक्रवार की सुबह सवा एक बजे डेढ़ साल के मासूम की चोरी हो गई। इस बाबत मूल रूप से पश्चिम बंगाल के वर्द्धमान की रहने वाली महिला ने केस दर्ज करवाया है। महिला सुबह के साढ़े पांच बजे ट्रेन पर सवार होकर दिल्ली से पटना पहुंची। इसके बाद उसे वधर्मान के लिये ट्रेन पकड़ना था। इस बीच वह एक होटल में नाश्ता करने गई। तभी होटल के ही एक कर्मी ने उससे बच्चा लेकर उसे दूसरे कमरे में सुला देने की बात कही। महिला उसकी बातों में आ गई। 

नाश्ता करने के बाद जब वह उठी और उस कमरे की ओर गई जहां होटलकर्मी बच्चे को लेकर गया था, तो वह बंद मिला। ताला खुलवाने के बाद महिला ने जब अंदर देखा तो बच्चा नहीं मिला। मासूम का पता नहीं चलने पर महिला कोतवाली थाने पहुंची और केस दर्ज करवाया। थानेदार राजन कुमार ने बताया कि होटल संचालक बिपिन महतो (सीतामढ़ी) और कर्मचारी अशोक कुमार (हजारीबाग, झारखंड) को हिरासत में लिया गया है। दाई का काम कर अकेले ही बच्चे को पालती थी

महिला अकेले ही दाई का काम कर बच्चे का भरण-पोषण करती थी। उसने दसवीं तक पढ़ाई की है। वह दिल्ली में रहकर झाड़ू-पोछा लगाने का काम करती है। उसने पुलिस को यह जानकारी दी कि दिल्ली में एक युवक के साथ वह लिव इन रिलेशनशिप में थी। गर्भवती होने के बाद युवक उससे शादी से मुकर गया। इसके बावजूद महिला ने बच्चे को जन्म दिया। जांच में जुटी थाने की पुलिस घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे की पड़ताल कर रही है। अब तक किसी भी संदिग्ध की तस्वीर कैमरे में नहीं दिखी है।

इससे पहले बुद्ध मार्ग स्थित बिहार इंटरमीडिएट काउंसिल के समीप से लापता तीन महीने के बच्चे का अब तक कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। बीते 29 अप्रैल को उस बच्चे की चोरी हुई थी। मामले में कोतवाली पुलिस ने चार आरोपितों पर केस दर्ज किया था। शुरुआती दौर में कोतवाली पुलिस ने बच्चे को समस्तीपुर से बरामद करने का दावा किया था, लेकिन कुछ समय बाद पता चला कि जिस बच्चे को पुलिस बरामद करने की बात कह रही है वह कोतवाली इलाके से चोरी हुआ मासूम नहीं था। बच्चे के माता-पिता ने पुलिस अधिकारियों से उसे बरामद कर लेने की गुहार लगाई है।