ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारसोनपुर मेला बंद रहेगा? थिएयर-सर्कस को भी नहीं मिला लाइसेंस, 7 किमी दूर रोकी जा रही गाड़ियां; आक्रोश

सोनपुर मेला बंद रहेगा? थिएयर-सर्कस को भी नहीं मिला लाइसेंस, 7 किमी दूर रोकी जा रही गाड़ियां; आक्रोश

इस बार मेला में स्नान करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या काफी कम रही। मेले के उद्घाटन के सप्ताह बीत जाने बाद विभिन्न चौक-चौराहे पर बैरीकेडिंग कर गांव में भी ग्रामीणों को प्रवेश करने नहीं दिया जा रहा है।

सोनपुर मेला बंद रहेगा? थिएयर-सर्कस को भी नहीं मिला लाइसेंस, 7 किमी दूर रोकी जा रही गाड़ियां; आक्रोश
Sudhir Kumarहिंदुस्तान,हाजीपुरFri, 01 Dec 2023 10:34 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के विश्व प्रसिद्ध सोनपुर पशु मेला में आए व्यपारी कारोबारी परेशान हैं। पूर्णिमा के अवसर पर डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने इसका उद्घाटन किया था। सात दिन बीत जाने के बाद भी यहां आए कारोबारियों को लाइसेंस नहीं देने का आरोप लगाया गया है। सोनपुर मेला के प्रति सरकार का सौतेला व्यवहार और प्रशासन की ओर से मेला क्षेत्र में व्याप्त कुव्यवस्था के विरोध में शुक्रवार को सोनपुर के चिरैयामठ पर थिएटर संचालकों, ग्रामीणों एवं व्यापारियों की बैठक आयोजित की गई। 

बैठक की अध्यक्षता विनोद सम्राट ने की। बैठक में चर्चा हुई कि बिहार के राजगीर में कुछ दिन पहले ही मलमास मेला का आयोजन किया था। जिसमें पहले दिन से ही खेल-तमासे, झूला, मारुती कुआं, सर्कस, थिएटर आदि का लाइसेंस देकर मेले को पूरी तरीके से सजाया गया। परन्तु हरिहर क्षेत्र सोनपुर मेला के उद्घाटन के सप्ताह भर बाद भी किसी प्रकार का लाइसेंस न देकर मेला को पुरी तरह से समाप्त करने की साजिश रची जा रही है। सोनपुर मेला में आने वाली गाड़ियों को पूर्णिमा के दिन से ही 07 किमी दूर ही गाड़ियों को रोक दिया जा रहा है। इसके कारण इस बार मेला में स्नान करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या काफी कम रही। मेले के उद्घाटन के सप्ताह भर बीत जाने बाद भी विभिन्न चौक-चौराहे पर बैरीकेटिंग कर गांव में भी ग्रामीणों को प्रवेश करने नहीं दिया जा रहा है। साथ ही व्यपारियों के सामानों को भी मेला में लाने नहीं दिया जा रहा है। 

वहीं विभिन्न मेले सहित राजगीर मेला में भी पारम्परिक अस्त्र तलवार, बरछी, भाला इत्यादि की बिक्री की जाती है। परन्तु सोनपुर में इसे प्रतिबंधित कर दिया जाता है। मेले में रात्रि 10 बजे के बाद प्रशासन के द्वारा किसी पर्यटकों को प्रवेश करने नहीं दिया जा रहा है। इन सब बातों से सरकार का सोनपुर के प्रति सौतेला व्यवहार झलकता है। सोनपुर मेले के सभी व्यपारियों एवं ग्रामीणों ने निर्णय लिया कि जब तक हमारी समस्याओं पर सरकार और प्रशासन उपयुक्त समाधान नहीं निकालता है सोनपुर मेला अनिश्चितकालीन तक बंद रहेगा।

सभी प्रकार के लाइसेंस दिए जाएं

स्थानीय लोगों की मांग राजगीर मलमास मेले की तर्ज पर हरिहरक्षेत्र सोनपुर मेला में भी उद्घाटन के साथ ही सभी प्रकार के लाइसेंस दिए जाएं। पर्यटकों की गाड़ी को मेला में लगे दर्जनों स्टैंड तक आने दिया जाए। व्यापारियों के सामानों की गाड़ी को समयावधि तय कर मेले में लाने दिया जाए। विभिन्न चौक चौराहे से ग्रामीणों को सुविधानुसार गांव में प्रवेश करने दिया जाए। 

मेला अवधी बढ़ाकर की जाए भरपाई

मेला में अभी तक लाइसेंस नहीं दिए जाने से जो आर्थिक नुकसान हुआ है। उसकी भरपायी मेला अवधि बढ़ाकर की जाए। मेला में लगे खेल तमासे, झूला, मारुती कुआं सर्कस, थियेटर आदि को मेला अवधि तक एक मुस्त लाइसेंस दिया जाए, फेरी, ठेला-खोमचा लगाने वाले गरीब दुकानदारों को भी मेला में दुकान लगाने दिया जाए। पारम्परिक शस्त्रों जैसे-तलवार, बरछी, भाला इत्यादि बेचने पर से प्रतिबंध हटाया जाए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें