ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारकौन हैं मिथिलेश तिवारी, जिन्हें बीजपी ने बक्सर से बनाया उम्मीदवार? अश्विनी चौबे का टिकट काटा

कौन हैं मिथिलेश तिवारी, जिन्हें बीजपी ने बक्सर से बनाया उम्मीदवार? अश्विनी चौबे का टिकट काटा

2015 में मिथिलेश तिवारी अपने गृह जिला गोपालगंज के बैकुंठपुर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीते थे। लेकिन 2020 के विधानसभा चुनाव में उन्हें पराजय का सामना करना पड़ा था।

कौन हैं मिथिलेश तिवारी, जिन्हें बीजपी ने बक्सर से बनाया उम्मीदवार? अश्विनी चौबे का टिकट काटा
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,बक्सरSun, 24 Mar 2024 11:00 PM
ऐप पर पढ़ें

लगातार दो बार बक्सर संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीत रहे केंद्रीय राज्य मंत्री अश्विनी चौबे इस बार हैट्रिक लगाने के लिए चुनावी मैदान में उतरने से पहले ही बाहर हो गए। भाजपा द्वारा जारी प्रत्याशियों की सूची से अश्विनी चौबे का नाम कट जाने पर पूरे क्षेत्र में चर्चाओं का बाजार प्रारंभ हो गया है। उनके टिकट कटने के कारणों का लोग अपने तरीके से आकलन कर रहे हैं। वहीं उनके उत्तराधिकारी मिथिलेश तिवारी के बारे में भी लोगों को जानने की उत्सुकता देखी जा रही है। 2015 के विधानसभा चुनाव में मिथिलेश तिवारी अपने गृह जिला गोपालगंज के बैकुंठपुर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीते थे। लेकिन 2020 के विधानसभा चुनाव में उन्हें पराजय का सामना करना पड़ा था। अभी वह भाजपा संगठन में प्रदेश महासचिव है। उनकी गिनती भाजपा के तेज तरह युवा नेता के रूप में होती रही है। पार्टी में सक्रिय रहने की चलते ही उन्हें प्रदेश संगठन में महामंत्री जैसा महत्वपूर्ण पद दिया गया है।

वहीं भागलपुर से पांच बार विधायक रहने के बाद 2014 के आम चुनाव में भाजपा द्वारा अश्विनी चौबे को बक्सर से प्रत्याशी बनाया गया था। उस चुनाव में जीतने के बाद 2017 में उन्हें पहली बार केंद्र सरकार में स्वास्थ्य व परिवार कल्याण राज्य मंत्री बनाया गया। फिर 2019 के आम चुनाव में भी क्षेत्र से उन्होंने दूसरी बार लगातार सफलता पाई तथा बड़े अंतर से राजद प्रत्याशी जगतानंद सिंह को पराजित किया था। इस बार वे तीसरी बार चुनावी मैदान में उतरकर हैट्रिक लगाने की पुरजोर तैयारी कर रहे थे। लेकिन पार्टी ने उनका टिकट काटकर उनकी आशाओं पर पानी फेर दिया है।

बिहार बीजेपी कैंडिडेट लिस्ट: भाजपा ने 58% उम्मीदवार सवर्ण समुदाय से उतारे, राजपूत सबसे अधिक

वैसे तो अश्विनी चौबे के टिकट कटने की चर्चा कई दिनों से क्षेत्र में चल रही थी। कई संभावित उम्मीदवारों को लेकर भी अटकलें बाजार में लग रही थी। लेकिन रविवार की शाम पार्टी द्वारा जारी प्रत्याशियों की सूची में अश्विनी चौबे का नाम नहीं रहने से उसको लेकर चल रही चर्चाओं पर मोहर लग गई है। वहीं पार्टी द्वारा घोषित उम्मीदवार मिथिलेश तिवारी के नाम के बाद संभावित प्रत्याशियों को लेकर चल रही चर्चाओं पर भी पूर्ण विराम लग गया है।

बिहार में बीजेपी कैंडिडेट की लिस्ट जारी; अश्विनी चौबे, अजय निषाद का टिकट कटा, नवादा विवेक ठाकुर लड़ेंगे