ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारबिहार को कब मिलेगा विशेष राज्य का दर्जा? जेडीयू के सवाल पर बीजेपी का जवाब... मांग पूरी करना संभव नहीं

बिहार को कब मिलेगा विशेष राज्य का दर्जा? जेडीयू के सवाल पर बीजेपी का जवाब... मांग पूरी करना संभव नहीं

बिहार भाजपा अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने कहा है कि कानून के तहत और 14वें वित्त आयोग की सिफारिश के कारण विशेष राज्य का दर्जा अब संभव नहीं है। देश में विशेष राज्य के दर्जा का प्रावधान ही नहीं रह गया है।...

बिहार को कब मिलेगा विशेष राज्य का दर्जा? जेडीयू के सवाल पर बीजेपी का जवाब... मांग पूरी करना संभव नहीं
Malay Ojhaपटना हिन्दुस्तान टीमSun, 23 Jan 2022 07:44 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

बिहार भाजपा अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने कहा है कि कानून के तहत और 14वें वित्त आयोग की सिफारिश के कारण विशेष राज्य का दर्जा अब संभव नहीं है। देश में विशेष राज्य के दर्जा का प्रावधान ही नहीं रह गया है। विशेष राज्य के दर्जे की मांग पर जदयू राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह को उन्होंने सुझाव देते हुए कहा कि झारखंड, तेलंगना, छत्तीसगढ़ और ओडिशा समेत कई राज्य इसकी मांग कर रहे हैं। ललन सिंह ऐसे राज्यों के मुख्यमंत्रियों से संपर्क करें। विशेष राज्य के दर्जे की मांग करने के लिए शिष्टमंडल अगर प्रधानमंत्री से मिलने जाता है और यदि श्री सिंह उस शिष्टमंडल में भाजपा के नेताओं को भी ले जाना चाहें तो हम भी जाने के लिए तैयार हैं। कहा कि हमें ख़ुशी होगी कि बिहार को जितना ज्यादा मिले। 

डॉ. जायसवाल ने रविवार को भाजपा प्रदेश मुख्यालय में सुभाष चंद्र बोस की जयंती समारोह के बाद मीडिया से बातचीत में जदयू अध्यक्ष के ट्वीट के जवाब में ये बातें कहीं। उन्होंने आंध्र प्रदेश के हुए बंटवारे का जिक्र करते हुए कहा कि जब आंध्र और तेलंगाना का बंटवारा हुआ तब केंद्र की तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा देने की बात कही थी। इसके बाद इस मुद्दे पर कांग्रेस सरकार ने संसद में भी वादा किया लेकिन वह उसे पूरा नहीं कर सकी। तत्कालीन सरकार ने आंध्र के विशेष दर्जे की मांग को राष्ट्रीय विकास आयोग को भेज दिया था। 14वें वित्त आयोग के प्रविधानों का जिक्र करते हुए जायसवाल ने कहा कि इसने जो निर्णय लिया है उसमें देश में विशेष राज्य का प्रावधान समाप्त हो गया है। न सिर्फ बिहार बल्कि देश के कई अन्य राज्य भी विशेष राज्य के दर्जे की मांग करते रहे हैं।

epaper