ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारनालंदा में मर्डर, वार्ड पार्षद की गोली मारकर हत्या; पुलिस बोली- सड़क हादसे में गई जान

नालंदा में मर्डर, वार्ड पार्षद की गोली मारकर हत्या; पुलिस बोली- सड़क हादसे में गई जान

नालंदा में वार्ड पार्षद रौशन कुमार का शव मिला है। परिजनों ने गोली मारकर हत्या करने का आरोप लगाया है। मृतक के भाई की ओर से दो नामजद लोगों के खिलाफ एफआईआर करायी गयी है।

नालंदा में मर्डर, वार्ड पार्षद की गोली मारकर हत्या; पुलिस बोली- सड़क हादसे में गई जान
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,नालंदाThu, 10 Aug 2023 11:04 PM
ऐप पर पढ़ें

नालंदा जिले के भागन बिगहा ओपी क्षेत्र के पिचासा मोड़ के पास बुधवार की रात हरनौत नगर पंचायत के वार्ड संख्या 17 के वार्ड पार्षद नियामतपुर गांव निवासी 32 वर्षीय रौशन कुमार का शव मिला। परिजनों ने गोली मारकर हत्या करने का आरोप लगाया है। इस मामले में भाई ने दो नामजद लोगों के खिलाफ एफआईआर करायी गयी है। हालांकि, हत्या का कारण स्पष्ट नहीं हुआ है। परिजन चुनावी रंजिश का आरोप लगा रहे हैं। शुरू में पुलिस इसे सड़क हादसा बता रही थी। परिजनों ने सदर अस्पताल में इसका विरोध किया और कई घंटों तक शव वहीं पड़ा रहा। परिजनों को कहना था कि दो गोलियां मारी गयी है। एक सिर में और दूसरी पेट में। पुलिस सूत्रों का कहना है कि गोली का जख्म नहीं है। इसका खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही हो सकेगा। 

परिजनों का कहना है कि आरोपितों ने प्लानिंग के तहत हत्या की। फोन कर उसे घर से बुलाया। वह बुधवार की शाम बाइक लेकर घर से निकला था। रात को करीब नौ बजे पुलिस ने फोन कर बताया कि शव मिला है। जब तक परिजन घटनास्थल पर पहुंचते पुलिस शव को लेकर सदर अस्पताल पहुंच गयी थी। अपराधियों ने गोली मारकर उसकी हत्या की और साक्ष्य छुपाने के लिए हादसे का रूप देने के लिए सड़क किनारे फेंक दिया। 

शव पहुंचते ही गांव में छाया मातम
गुरुवार को पोस्टमार्टम के बाद शव गांव लाया गया। शव पहुंचते ही गांव में चीख-पुकार मच गयी। आसपास के लोग परिजनों को संभालने का प्रयास कर रहे थे। सैकड़ों की भीड़ के साथ दर्जनों वार्ड पार्षद भी मातमपूर्सी के लिए पहुंच गये। सुरक्षा को लेकर पुलिस मुस्तैद थी। वार्ड पार्षदों ने दुख प्रकट करते हुए घटना की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। 

माता-पिता का हो चुका है निधन
रौशन के पिता स्व. सुहावन पासवान की मौत दो साल पहले सड़क हादसे में हो गयी थी। मां कांति देवी का निधन भी चार साल पहले हो चुका है। वह तीन भाईयों में सबसे बड़ा था। अभी उसकी कोई संतान नहीं है। पत्नी इंदू देवी, भाई आनंद कुमार व राजा कुमार शव से लिपटकर बिलख रहे थे। सदर डीएसपी डॉ. शिब्ली नोमानी ने बताया कि पिचासा चौक के मिले जख्मी रौशन को पुलिस अस्पताल ले गयी थी। वहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। भाई ने वेना थाना क्षेत्र के सरथा गांव निवासी किशन कुमार व पटना जिला के बख्तियारपुर निवासी राकेश कुमार के खिलाफ एफआईआर की गयी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।