DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  मवेशियों को जब्त करने के दौरान ग्रामीणों ने एसएसबी जवानों पर किया पथराव

बिहारमवेशियों को जब्त करने के दौरान ग्रामीणों ने एसएसबी जवानों पर किया पथराव

हिन्दुस्तान,पश्चिम चंपारणPublished By: Abhishek Tiwari
Fri, 12 Feb 2021 06:57 PM
मवेशियों को जब्त करने के दौरान ग्रामीणों ने एसएसबी जवानों पर किया पथराव

बिहार के पश्चिम चंपारण जिले में भंगहा थाने के सिसवा ताजपुर में नेपाल ले जा रहे मवेशियों को जब्त करने पर ग्रामीणों ने शुक्रवार को एसएसबी जवानों पर पथराव कर दिया। लाठी-डंडे से भी उनपर हमला कर दिया। इसमें एक जवान घायल हो गया। मामले में 44वीं बटालियन अहिरा सिसवा कैंप के कमांडर महेंद्र सिंह ने नौ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है।

इधर, ग्रामीणों ने पालतू मवेशियों को भी जब्त करने का आरोप एसएसबी के जवानों पर लगाया है। कमांडर ने आवेदन में कहा है कि पिलर संख्या 427/13 के रास्ते तीन लोग सात मवेशी नेपाल ले जा रहे थे। गश्ती के दौरान मवेशियों को जब्त कर भंगहा थाने ले जाया जा रहा था। इसी दौरान सिसवा ताजपुर गांव के कृष्ण मंदिर के समीप 20-25 लोगों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। लाठी-डंडे से जवानों पर हमला कर दिया और मवेशियों को छुड़ाकर ले गये। ग्रामीणों के हमले में जवान विकास वर्मा घायल हो गये। एसएसबी ने सूझबूझ का परिचय दिया और घटनास्थल से पीछे हटकर अपनी जान बचाई। ग्रामीणों ने जवानों से गाली-गलौज भी की। मामले में भंगहा थाना क्षेत्र के धुमाटाड़ जसौली गांव के मुन्ना अंसारी, आसीन मियां, मिस्टर शेख, रोजा मियां, हसनैन मियां, मोहन मांझी, अमरूल खातुन, शेख इमाम व शेख रफीक की पहचान कर ली गई। इधर भंगहा थानाध्यक्ष मनोज कुमार प्रसाद ने बताया कि एसएसबी के कंपनी कमांडर महेंद्र सिंह के आवेदन पर नौ लोगों के विरुद्ध केस दर्ज किया गया है। पुलिस मामले में कार्रवाई कर रही है।

पालतू मवेशियों को पकड़ने का ग्रामीणों ने लगाया आरोप , किया प्रदर्शन
भंगहा थाना क्षेत्र के धूमाटाड़ जसौली के ग्रामीणों ने अहिरासिसवा एसएसबी कैंप के जवानों पर पालतू मवेशियों को पकड़ने का आरोप लगाया है। आक्रोशित ग्रामीण एसएसबी की करवाई के विरुद्ध प्रदर्शन भी किया। ग्रामीण कामिल अंसारी ,रोजा मियां, अमरूल खातुन, रमतूल्लाह अंसारी, शेख रशीद, इदरीश मियां, हसनैन आदि ने बताया कि हम लोगों का जीविकोपार्जन मवेशियों से चलता है। मवेशियों को चराने के लिए अमरुल खातून सीमा पर गई थी। उसी दौरान तस्करी का आरोप लगाकर एसएसबी के जवानों ने सात मवेशियों को पकड़ लिया । ग्रामीणों ने बताया कि निष्पक्ष जांच के लिए हम लोग पुलिस विभाग के उच्च अधिकारियों से भी मिलेंगे। ग्रामीणों ने इस मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है।

संबंधित खबरें