ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारनाच पर मचा बवाल; बिहार बॉर्डर पर नेपाल पुलिस ने की फायरिंग और लाठीचार्ज, कई घायल

नाच पर मचा बवाल; बिहार बॉर्डर पर नेपाल पुलिस ने की फायरिंग और लाठीचार्ज, कई घायल

भारत नेपाल सीमा से लगे रक्सौल के सिवान टोला में अंतर्राष्ट्रीय सीमा को पारकर नेपाल पुलिस ने घुसकर लाठी चार्ज, फायरिंग व अश्रु गैस के गोले छोड़े। जिसमें कई लोग घायल हुए। नाच को लेकर बवाल हुआ था।

नाच पर मचा बवाल; बिहार बॉर्डर पर नेपाल पुलिस ने की फायरिंग और लाठीचार्ज, कई घायल
Sandeepएक संवाददाता,रक्सौलMon, 04 Dec 2023 09:25 AM
ऐप पर पढ़ें

भारत नेपाल सीमा से लगे नेपाल के वीरगंज महानगर पालिका के वार्ड 17 स्थित सिवान टोला में आयोजित महावीरी झंडा मेले में शनिवार रात नाच को लेकर पुलिस व स्थानीय लोगों में झड़प हो गई। इसके बाद नेपाल पुलिस ने लाठीचार्ज के साथ फायरिंग कर दी और अश्रु गैस के गोले छोड़े। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, पुलिस ने पांच राउंड गोली चलाई। अचानक हुई इस करवाई से भगदड़ मच गई।

फायरिंग में एक भारतीय नागरिक सिवान टोला हरैया वार्ड 12 निवासी चीनी लाल पटेल के पुत्र राजन कुमार पटेल (20) घायल हो गया। उसे डंकन अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हॉस्पिटल के मेडिकल सुप्रीटेंडेंट डॉ. प्रभु जोसफ ने बताया कि ऑपरेशन किया गया है। मरीज खतरे से बाहर है। 

लोगों ने बताया कि पुलिस लाठी चार्ज व फायरिंग में भारत व नेपाल दोनों ओर के दर्जनों लोग जख्मी हुए हैं। आरोप है कि भाग रहे लोगों को खदेड़ते हुए अंतर्राष्ट्रीय सीमा को पारकर नेपाल पुलिस ने भारतीय सीमा क्षेत्र के हिस्से वाले सिवान टोला में घुसकर लाठी चार्ज, फायरिंग व अश्रु गैस के गोले छोड़े। घटना के विरोध में रक्सौल की पंटोका पंचायत के सिवान टोला के नागरिकों ने रविवार को बांस बल्ला लगाकर रास्तों को अवरुद्ध कर दिया। नेपाल पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। वार्ड सदस्य सोना लाल भगत के नेतृत्व में प्रदर्शनकारियों ने निष्पक्ष जांच कर दोषी पुलिसकर्मियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की।

ग्रामीणों ने बताया कि नेपाल की तरफ मंदिर के पास यह मेला लगता है। इसे नेपाल व भारत के लोग मिलजुल कर आयोजित करते हैं। छठ के 15 दिन बाद महावीरी मेला लगता है। इसमें नाच का आयोजन होता है। मेले में कुश्ती के बाद शनिवार रात नाच का आयोजन हुआ था। इसमें सीमा क्षेत्र के बड़ी संख्या में लोग शामिल थे। इसी में किसी बात को लेकर झड़प हो गई। झड़प में एक भारतीय समेत कुल पांच सुरक्षाकर्मी घायल हो गए। लाठीचार्ज में दोनों ओर के दर्जनों लोग चोटिल हुए हैं।

सूत्रों ने बताया कि नेपाल में रात 10 बजे के बाद तेज आवाज में डीजे, प्रोग्राम करने पर रोक है। पुलिस ने रात 11 बजे के बाद नाच आयोजित नहीं करने का निर्देश दिया। मेला कमेटी की ओर से वार्ड 17 के अध्यक्ष संजू छ्तकुली के आग्रह के बाद 12 बजे रात्रि तक नाच चला। रात 12.30 बजे के बाद परसा जिला के सीरीसिया पुलिस चौकी के इंचार्ज टेक बहादुर कार्की के नेतृत्व में पुलिस ने इसे रोकने का दबाव बनाया। जिला मुख्यालय वीरगंज से पांच वैन फोर्स मंगा लिया और लाठी चार्ज शुरू कर दिया। इससे तनाव की स्थिति बन गई। झड़प के दौरान दर्शकों ने भी पुलिस पर पथराव किया। ग्रामीणों के मुताबिक, पुलिस टीम ने बॉर्डर पिलर संख्या 394 के पास भारतीय क्षेत्र में घुसकर कार्रवाई की।

परसा जिला पुलिस के मुताबिक, झड़प में पुलिस चौकी सिरिसिया के सहायक हवलदार सुबोध कुमार यादव, पुलिस जवान सुभाष चौधरी, रोशन सिंह आदि घायल हुए। डीएसपी कुमार विक्रम थापा का कहना है कि स्थिति नियंत्रण के लिए तीन राउंड अश्रु गैस और 1 राउंड रबर की गोली चलाई गई। उन्होंने भारतीय नागरिक को गोली मांरने से इनकार करते हुए कहा है कि भागने के क्रम में या अश्रु गैस से जख्मी हुआ होगा।

सिवान टोला के एक अन्य जख्मी युवा विरेंद्र पटेल ने बताया कि नेपाल पुलिस ने भारतीय क्षेत्र में 200 मीटर घुसकर गोली चलाई और अश्रु गैस के गोले छोड़े हैं। उसने जख्म दिखाते हुए बताया कि आंख के नीचे गोले के छर्रे से जख्म आई है। नेपाल पुलिस के रवैये पर सवाल उठाते हुए रक्सौल प्रखंड के प्रमुख श्याम पटेल ने कहा है कि मामले की निष्पक्ष जांच कर दोषी पर कारवाई होनी चाहिए।

उन्होंने भारतीय युवक के घायल होने पर अफसोस जताया है। मामले को लेकर दोनों ओर के पुलिस अधिकारियो ने जांच शुरू कर दी है। मोतिहारी के एसपी कांतेश कुमार मिश्रा ने बताया कि अधिकारियों की बैठक भी हुई है। स्थिति नियंत्रण में है। भारतीय युवक टीयर गैस लगने से जख्मी हुआ है। दोनों तरफ से बैठक की गई है। मामला शांत हो गया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें