ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारभागलपुर में महिला की हत्या के बाद बवाल, पुलिस की गाड़ी फूंकी; कई राउंड फायरिंग, 2 जवान समेत 4 घायल

भागलपुर में महिला की हत्या के बाद बवाल, पुलिस की गाड़ी फूंकी; कई राउंड फायरिंग, 2 जवान समेत 4 घायल

बिहार के भागलपुर जिले में लापता महिला की लाश मिलने के बाद लोग आक्रोशित हो उठे। गुस्साई भीड़ ने जमकर पत्थरबाजी की। पुलिस की गाड़ी को फूंक डाला। दो जवान समेत चार लोग घायल हो गए।

भागलपुर में महिला की हत्या के बाद बवाल, पुलिस की गाड़ी फूंकी; कई राउंड फायरिंग, 2 जवान समेत 4 घायल
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,भागलपुरSun, 18 Feb 2024 07:40 PM
ऐप पर पढ़ें

भागलपुर जिले के रंगरा सहायक थाना के रंगरा गांव में रविवार को मनोज मंडल की दो दिन से लापता पत्नी शोभा देवी का शव मिलने के बाद एकाएक माहौल बिगड़ गया। पुलिस पर आरोपी को बचाने का आरोप लगाते हुए लोगों ने जमकर बवाल किया। इसके बाद घटनास्थल पर पुलिस पब्लिक के बीच विवाद बढ़ा और दोनों ओर से ईंट-पत्थर चलने लगे। रंगरा का दक्षिणबाड़ी टोला रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। हालात को बिगड़ते देख पुलिस को कई राउंड फायरिंग करनी पड़ी। घटना की सूचना पर अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी ओमप्रकाश, एसडीओ उत्तम कुमार घटनास्थल पर पहुंचे और लोगों को समझाने का प्रयाय किया, लेकिन लोग नहीं माने।

जानकारी के मुताबिक, मृतिका दो दिन पूर्व कारे ठाकुर के घर दूध देने गयी थी। महिला के लापता होने के बाद शव एक गाय के बथान पर रखा मिला। शव मिलने से मृतिका के परिजन आक्रोशित हो गए। धीरे-धीरे घटना की सूचना आग की तरह गांव के चारों तरफ फैलने लगी और लोग जमा हो गए। आक्रोशित लोगों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाकर मौके पर पहुंची रंगरा पुलिस को खदेड़ दिया। देखते ही देखते बड़ी संख्या में लोग जमा हो गए और बवाल करने लगे। आक्रोशित लोगों ने दक्षिणबाड़ी टोला में पुलिस वाहन सहित पंचायत समिति की कार, बुलेट एवं एक मोटरसाइकिल आग के हवाले कर दिया। आक्रोशित लोगों ने कई लोगों के साथ मारपीट की है। ऐसी सूचना सामने आयी है। घटनास्थल पर पत्रकार व पुलिस बल की पिटाई भी की गई। दो जवान भी घायल हुए हैं।

कारे ठाकुर एवं पंचायत समिति सदस्य के ऊपर था आक्रोश 
ग्रामीणों का कारे ठाकुर और पंचायत समिति सदस्य जिम्मी ठाकुर पर आक्रोश था। ग्रामीणों का कहना था कि इसी दोनों के कारण घटना घटी है। भीड़ ने पुलिस गाड़ी के साथ रंगरा पंचायत के पंचायत समिति सदस्य की एक बुलेट गाड़ी, एक कार एवं तीन अन्य वाहन को क्षतिग्रस्त कर दिया। मोटरसाइकिल को आग के हवाले कर दिया।

घर पर जाकर धमकाने वाले दो युवकों को पीटा 
ग्रामीणों ने बताया कि महिला के गायब होने के बाद जब परिजन उसे खोजने गये तो इसी दौरान गांव के सोनू और लालू महिला के परिजन को धमकाने गए कि हमारे घर पर दोबारा जाना नहीं। वहां महिला नहीं है। इसी दौरान वहां पर कुछ लोगों ने दोनों को पकड़कर पीटकर गम्भीर रूप से घायल कर दिया। जानकारी मिलने पर दोनों को रंगरा पुलिस ने जाकर छुड़ाया। इसके बाद शव मिलने पर आक्रोशित भीड़ ने कारे ठाकुर के घर में आग लगाने का प्रयास किया, जिसे पुलिस ने असफल कर दिया। पुलिस ने कारे ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद आक्रोशित भीड़ ने पंचायत समिति सदस्य के घर में तोड़फोड़ की और उसकी मोटरसायकिल में आग लगा दी। इस दौरान सोनू की भी मोटरसायकिल को जलाया गया।

भीड़ को तितर-बितर करने पुलिस ने चलाई गोली 
मौके पर पहुंची पुलिस के साथ आक्रोशित भीड़ के नोकझोंक के दौरान एक पुलिसवाले द्वारा महिला के ऊपर लाठी चलाने से भीड़ उग्र हो गयी और पुलिस पर जमकर रोड़ेबाजी की। इस घटना में दो पुलिसवाले घायल हो गए। दोनों पुलिसवाले भागकर मुखिया के दरवाजे पर पहुंचे, जिससे उस दोनों की जान बची। भीड़ को तितर-बितर करने को लेकर पुलिस को कई रांउड फायरिंग करनी पड़ी। घटना के बाद भारी संख्या में पुलिसबल गांव में कैंप कर रही है।

रंगरा रणक्षेत्र में तब्दील 
घटना के बाद नवगछिया, गोपालपुर, इस्माईलपुर, रंगरा, बिहपुर, कदवा, ढोलबज्जा सहित अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ओमप्रकाश, डीएसपी मुख्यालय एसके पांडे भारी संख्या में पुलिस बल के साथ मौके पर मौजूद हैं।

एसपी से उलझीं महिलाएं- कहा इंसाफ चाहिए 
घटना की सूचना पर नवगछिया एसपी पूरण झा मौके पर पहुंचे और स्थानीय लोगों को समझने का प्रयास किया, लेकिन महिलाये उनसे भी उलझ गईं। आक्रोशित महिलाएं उनसे इंसाफ करने और आरोपी को पकड़ने की मांग कर रही थीं।

शव उठाने के दौरान महिलाओं ने किया हंगामा 
लोगों को समझाने-बुझाने के बाद जब पुलिस शव को उठाने गयी तो महिलाएं उनसे उलझ गयीं और कहा जबतक महिला को मारने वाले को पकड़ कर नहीं लाते हैं, हमलोग शव उठाने नहीं देंगे। उसको पकड़कर लाइये इसी तरह उसको भी मारेंगे। महिलाओं को समझने-बुझाने के बाद शव को उठाकर पोस्टमार्टम के लिए भेज गया।

पूरे रंगरा थाना पर होगी कार्रवाई 
लोगों ने एसपी से कहा कि रंगरा थानाध्यक्ष की लापरवाही से महिला की जान गई है। उसको हटाइये। एसपी ने कहा कि पूरे रंगरा थाना पर कार्रवाई करेंगे। जरूरत पड़ी तो निलंबित करेंगे।

सड़क जाम करने पहुंचीं महिलाएं 
घटना के बाद गांव में तनाव का माहौल है। आक्रोशित लगभग सौ महिलाएं थाना के पास सड़क जाम करने पहुंचीं, जिसे एसडीओ और एसडीपीओ ने समझा-बुझाकर शांत कर दिया। एसपी ने कहा कि स्थिति नियंत्रण में है। गांव में पुलिस बलों की तैनाती कर दी गयी है। नवगछिया एसपी ने बताया कि तीन लोगों की गिरफ्तारी हो गयी है। जो बचे हैं, उनकी भी जल्द गिरफ्तारी होगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें