DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गरीबों को शिक्षा से वंचित रखना चाहते हैं CM नीतीश : उपेंद्र कुशवाहा

औरंगाबाद में केंद्रीय विद्यालय  की जमीन के लिए उपवास पर बैठे उपेंद्र कुशवाहा

केंद्रीय विद्यालय की जमीन के लिए उपेंद्र कुशवाहा अपने संसदीय क्षेत्र औरंगाबाद के देवकुंड में उपवास पर बैठ गए हैं। इनके साथ रालोसपा नेता और भारी संख्या में कार्यकर्ता भी उपवास सह महाधरना कार्यक्रम में शामिल हैं।

धरना के दौरान केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री उपेंद्र ने कहा कि नीतीश कुमार साजिश के तहत गरीबों को शिक्षा से वंचित रखना चाहते हैं। देवकुंड जैसे पिछड़े इलाके में केंद्रीय विद्यालय खुलने से औरंगाबाद, जहानाबाद और अरवल जिले के बच्चों को फायदा होता, लेकिन राज्य सरकार केंद्रीय विद्यालय बोर्ड को जमीन हस्तांतरित नहीं कर रही है। जबकि देवकुंड मठ के मठाधीश कन्हैया नंद पूरी द्वारा केवि के लिए 10 एकड़ भूमि मुहैया कराई गई है और उसे राज्यपाल के नाम कर दिया है। लेकिन राज्य सरकार इसमें पेंच फंसा रही है। उन्होंने बिहार सरकार की नीतियों पर जमकर प्रहार किया। कहा कि पिछले केंद्र सरकार की मंजूरी के बाद भी राज्य सरकार पिछले 6 माह से एक साजिश के तहत जमीन से संबंधित अपचारिकताएँ पूरी नहीं की। उन्होंने केवि से संबंधित सभी मामलों को जल्द से जल्द निबटने की मांग की। 

राज्य सरकार केवि के समर्थन में देवकुंड मठ के मठाधीश भी उपवास पर बैठे हैं। साथ ही केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा के साथ पूर्व मंत्री सह रालोसपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नागमणी, प्रदेश अध्य़क्ष भूदेव चौधरी, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष राजेश यादव, राष्ट्रीय महासचिव मालती कुशवाहा, सहित औरंगाबाद, गया, अरवल, जहानाबाद, रोहतास जिले के पार्टी के जिलाध्यक्ष के अलावा लगभग एक हजार लोग उपवास में शामिल हैं। वक्ताओं ने बिहार सरकार की जमकर आलोचना की। नीतीश कुमार को शिक्षा विरोधी की संज्ञा देते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने बच्चों को भविष्य के साथ खिलवाड़ किया है। जिसे भावी पीढ़ी माफ नहीं करेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Upendra Kushwaha sitting on fast for Land of central school in Bihar