ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारनीतीश को ललन सिंह का पैटर्न पसंद नहीं आया; उपेंद्र कुशवाहा बोले- सीएम के साथ धोखा हुआ

नीतीश को ललन सिंह का पैटर्न पसंद नहीं आया; उपेंद्र कुशवाहा बोले- सीएम के साथ धोखा हुआ

उपेंद्र कुशवाहा को झूठी दिलासा देकर आरजेडी के साथ ले जाया गया कि उन्हें प्रधानमंत्री के अगले उम्मीदवार के रूप में पेश किया जाएगा। ललन सिंह का इसमें एक्टिव रोल रहा है।

नीतीश को ललन सिंह का पैटर्न पसंद नहीं आया; उपेंद्र कुशवाहा बोले- सीएम के साथ धोखा हुआ
Jayesh Jetawatहिन्दुस्तान,पटनाFri, 29 Dec 2023 11:24 PM
ऐप पर पढ़ें

ललन सिंह के जेडीयू अध्यक्ष पद से हटने और नीतीश कुमार के पार्टी की कमान संभालने पर आरएलजेडी के मुखिया उपेंद्र कुशवाहा ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को ललन सिंह का पैटर्न पसंद नहीं आया। इसी वजह से जेडीयू में ऐसी स्थिति आई। उन्होंने जेडीयू अध्यक्ष बदले जाने के घटनाक्रम को पार्टी का अंदरूनी मामला बताया। हालांकि उन्होंने कहा कि बिहार सीएम के साथ इंडिया गठबंधन में धोखा हुआ है।

आरएलजेडी प्रमुख एवं नीतीश के पूर्व करीबी नेता उपेंद्र कुशवाहा ने शुक्रवार को जेडीयू में हुए घटनाक्रम पर अपनी बात रखी। उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ धोखा हुआ है। बार-बार उन्हें झूठी दिलासा दी गई कि INDIA गठबंधन का नेतृत्व मिलेगा। भारत के अगले प्रधानमंत्री के उम्मीदवार के रूप में नाम होगा। यह कह कर उनको आरजेडी के साथ ले जाया गया और वे भी इस झांसे में आ गए।

कुशवाहा ने कहा कि अंतिम रूप से नीतीश कुमार की भी गलती है। लेकिन ललन सिंह का इस काम में एक्टिव रोल रहा है। अब जाकर मुख्यमंत्री को भी यह बात समझ में आ गई कि उस गठबंधन में उनके लिए जगह नहीं है। जेडीयू को जिस पैटर्न पर ललन सिंह ले जाना चाह रहे थे शायद वह नीतीश कुमार को पसंद नहीं आया होगा। इसलिए ऐसी स्थिति आई है। 

तेजस्वी यादव सीएम बनने जा रहे हैं? इस्तीफे के बाद ललन सिंह ने दिया जवाब

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि वैसे यह जेडीयू का अंदरूनी मामला है। आगे निर्णय नीतीश कुमार को लेना होगा। उन्होंने कहा कि वह पहले दिन से कह कह रहे हैं, जब जेडीयू के अंदर वे थे तभी से इस बात का आभास दिख रहा था। जिस रास्ते पर जेडीयू चल रही थी, उस रास्ते पर जाकर बर्बाद हो जाएगी। नीतीश कुमार के जो समर्थक हैं, उन्हें आरजेडी के साथ जाना कतई पसंद नहीं है। पार्टी का जितना नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई संभव नहीं है।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें