DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › सियासी सफर: जदयू के कारण ही राष्ट्रीय राजनीति के केंद्र में आए उपेन्द्र कुशवाहा
बिहार

सियासी सफर: जदयू के कारण ही राष्ट्रीय राजनीति के केंद्र में आए उपेन्द्र कुशवाहा

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरोPublished By: Malay
Mon, 10 Dec 2018 09:13 PM
सियासी सफर: जदयू के कारण ही राष्ट्रीय राजनीति के केंद्र में आए उपेन्द्र कुशवाहा

अब तक दो बार सांसद बनने वाले रालोसपा प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा बिहार में प्रतिपक्ष का नेता बनने के बाद सुखिर्यों में आए। वर्ष 2010 में जदयू से राज्यसभा सांसद बने तो दल से ही बगावत कर ली और अलग होकर नई पार्टी बनाई। सोमवार को जब एनडीए से नाता तोड़ा तो उसके पीछे भी वह जदयू को एक कारण बता रहे हैं। हालांकि सच यह भी है कि जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कारण ही उपेन्द्र कुशवाहा नेता प्रतिपक्ष बने और पहली बार सांसद भी बने थे।

साल 1985 में राजनीति की शुरुआत करने वाले उपेन्द्र कुशवाहा 1985-88 के बीच युवा लोकदल के प्रदेश महासचिव रहे। वहीं, 1988-93 तक युवा जनता दल के राष्ट्रीय महासचिव बने। वर्ष 1994 में समता पार्टी का दामन थामा तो 2002 तक महासचिव पद पर रहे। पहली बार वर्ष 2000 में विधायक बने और समता पार्टी के उप नेता बने। मार्च 2004 में तत्कालीन नेता प्रतिपक्ष सुशील कुमार मोदी लोकसभा सांसद बन गए। स्थिति ऐसी बनी कि जदयू विपक्ष में बड़ी पार्टी बन गई। तब नीतीश कुमार के कारण ही उपेन्द्र कुशवाहा नेता प्रतिपक्ष बने। बीच के वर्षों में वे राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी में भी रहे। 

कुशवाहा को वर्ष 2010 में फिर नीतीश कुमार का सहारा मिला और राज्यसभा सांसद बन गए। लेकिन टिकट वितरण से नाराज होकर पार्टी से बगावत कर ली। सांसदी से इस्तीफा देकर मार्च 2013 को राष्ट्रीय लोक समता पार्टी बनाई। वर्ष 2014 के लोस चुनाव में एनडीए का दामन थामा। गठबंधन में मिली तीनों सीटों पर जीते। खुद काराकाट से लोकसभा सांसद बने उपेन्द्र कुशवाहा सोमवार को इस्तीफा देने से पहले तक केंद्र सरकार में राज्यमंत्री रहे। हालांकि 2015 के विधानसभा चुनाव में 23 सीटें मिली पर दो पर ही जीत हासिल हुई। 

उपेन्द्र कुशवाहा
जन्म : 06 फरवरी 1960
विधायक : वर्ष 2000 में पहली बार 
नेता प्रतिपक्ष :  मार्च 2004 में बने 
रास सांसद : 2010 में बने 
लोस सांसद : 2014 में काराकाट से चुने गए
मंत्री बने : 16 मई 2014 को केंद्रीय राज्यमंत्री बने

संबंधित खबरें