ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारनाबालिग रिश्तेदार के रेप केस में बंद लड़का फांसी पर झूला, पापा बोले- जेल से भागना चाहता था बेटा

नाबालिग रिश्तेदार के रेप केस में बंद लड़का फांसी पर झूला, पापा बोले- जेल से भागना चाहता था बेटा

अपनी नाबालिग रिश्तेदार से बलात्कार के केस में बिहार की एक सेंट्रल जेल में बंद एक 19 साल का एक लड़का जेल कैंपस के अंदर फंदा बनाकर पेड़ से झूल गया। मृतक पॉक्सो केस में चार महीने से विचाराधीन कैदी था।

नाबालिग रिश्तेदार के रेप केस में बंद लड़का फांसी पर झूला, पापा बोले- जेल से भागना चाहता था बेटा
Ritesh Vermaलाइव हिन्दुस्तान,पूर्णियाThu, 07 Dec 2023 11:29 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार के पूर्णिया सेंट्रल जेल में एक नाबालिग रिश्तेदार से बलात्कार के आरोप में बंद 19 साल के विचाराधीन कैदी ने कारा कैंपस के अंदर ही फंदा बनाकर फांसी लगा लिया। लड़के की मौत से जेल में हड़कंप मच गया। जेल प्रशासन ने सुरक्षा गार्ड्स को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। लड़के के पिता ने कहा कि वो जेल से भागना चाहता था लेकिन यहां से निकलने का कोई रास्ता नहीं मिलने पर आत्महत्या कर ली। केंद्रीय कारा के अधीक्षक राजीव झा ने सुरक्षा कर्मियों की लापरवाही मानते हुए जांच के आदेश दिए हैं। लड़के की डेड बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है और रिपोर्ट का इंतजार है। 

पूर्णिया के चंपानगर थाना क्षेत्र के राजेंद्र महतो का 19 साल का बेटा अमित कुमार पिछले चार महीने से भी ऊपर से पॉक्सो एक्ट के केस में केंद्रीय कारा में बंद था। अमित कुमार को गिरफ्तार करके 30 जुलाई को जेल लाया गया था। सेंट्रल जेल के सूत्रों ने बताया कि अमित बुधवार को कैदियों की गिनती के दौरान जब नहीं मिला तो उसकी खोजबीन शुरू हुई। तब जाकर जेल कैंपस के अंदर ही अमित का शव एक पेड़ से लटका मिला। जेल प्रशासन ने अमित को पेड़ से उतारकर अस्पताल भेजा जहां उसे मृत घोषित कर दिया। शव का पोस्टमार्टम हो गया है और जेल प्रशासन को रिपोर्ट का इंतजार है। रिपोर्ट के इंतजार में तमाम दृष्टिकोण से संदिग्ध सुसाइड की जांच चल रही है।

जहाज से मुंबई से दरभंगा जाना था, पटना में फ्लाइट उतारकर बस से भेजना पड़ा, जानिए क्यों?

पूर्णिया मेडिकल कॉलेज से सूत्रों ने बताया कि अमित के गर्दन और गला पर निशान थे जिससे लगता है कि उसकी मौत झूलने के कारण हुई है। सेंट्रल जेल के सुपरिटेंडेंट राजीव झा ने जेल के अंदर तैनात सुरक्षा गार्ड की लापरवाही कबूल करते हुए कारण बताओ नोटिस जारी किया है। अमित के पिता राजेंद्र महतो ने एचटी से कहा कि उनका बेटा जेल के अंदर बहुत हताश था और जेल से भागना चाहता था। जब उसे जेल से भागने का मौका नहीं मिला तो उसे जान दे दी। अमित के पिता ने आरोप लगाया है कि जेल के अधिकारी उनके बेटे को टॉर्चर करते थे जिससे बचने के लिए उसने यह कदम उठाया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें