ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारगया में बोरवेल में गिरी ढाई साल की बच्ची की मौत, खेलने के दौरान हादसा; परिजनों में हाहाकार

गया में बोरवेल में गिरी ढाई साल की बच्ची की मौत, खेलने के दौरान हादसा; परिजनों में हाहाकार

गया में एक बच्ची 105 फीट गहरे बोरवेल में गिर गई। उसकी पहचान कर ली गई है। हादसे की शिकार हुई बच्ची किसान अरविंद यादव की छोटी बेटी थी। बोरवेल में गिरी बच्ची की मौत से परिजनों में हाहाकार मच गया है

गया में बोरवेल में गिरी ढाई साल की बच्ची की मौत, खेलने के दौरान हादसा; परिजनों में हाहाकार
Sudhir Kumarहिंदुस्तान,गयाSun, 10 Dec 2023 04:05 PM
ऐप पर पढ़ें

बड़ी खबर बिहार के गया से आई है जहां एक ढ़ाई साल की बच्ची105 फीट गहरे बोरवेल में गिर  गई जिससे उसकी  मौत हो गई। बच्ची की पहचान कर ली गई है। हादसे की शिकार हुई बच्ची किसान अरविंद यादव की छोटी  बेटी थी। बच्ची के बोरवेल में गिर जाने से परिजनों में हाहाकार मच गया । घटना मोहनपुर प्रखंड के मसौदा गांव की है जो गया जिला मुख्यालय से 70 किलोमीटर दूरी पर स्थित है।  पूरे गांव के लोग इस हादसे से मर्माहत हैं और बच्ची को निकालने के लिए अपने अपने स्तर से कोशिश कर रहे हैं। 

मिली जानकारी के मुताबिक शनिवार को अरविंद यादव की ढ़ाई साल की बेटी घर के पास खेल रही थी। वहीं बोरिंग कराया गया था जिसे बंद नहीं किया गया था। खेलने के दौरान अबोध बच्ची बोरवेल में गिर गई। स्थानीय लोगों ने प्रशासन से बच्ची को जल्द से जल्द बाहर निकालने की मांग की।  लेकिन प्रशासनिक टीम के पहुंचने के पहले बच्ची को निकालने के लिए जेसीबी मंगा लिया गया।  बच्ची बोरवेल  के बीच फंसी थी। उसे ग्रामीणों द्वारा निकाल लिया गया। लेकिन तबतक उसकी मौत हो चुकी थी।

स्थानीय लोगों से मिली जानकारी के मुताबिक मोहनपुर के अंकोला पंचायत में राजेंद्र यादव के निजी घर में बोरिंग करवाया जा रहा था।  इसी  दौरान  बोरिंग में ढाई साल की बच्ची गिर गई। गांवालों से जैसे ही सूचना मिली कि मोहनपुर प्रखंड मुख्यालय से 25 किलोमीटर दूर सुदूरवर्ती गांव के उक्त स्पॉट पर बीडीओ एवं थाना प्रभारी पहुंचे। तब तक  जिलाधिकारी डॉ० त्यागराजन एसएम ने पटना मुख्यालय स्थित अपर मुख्य सचिव आपदा से बात करके पटना से भी एनडीआरएफ की टीम बुला ली। इसके साथ ही एम्बुलेंस एव मेडिकल टीम भी स्पॉट पर के लिये रवाना हो गई थी। लेकिन लोकल लोग जेसीबी के माध्यम से बच्चे को बोरिंग से निकालने के प्रयास में जुट गए। इस बीच बच्ची को बचाया नहीं जा सका।  

जिलाधिकारी डॉ० त्यागराजन एसएमने बताया कि घटना काफी दुखद है। उन्होंने पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना है। जो भी अग्रेतर कार्रवाई है वह की जा रही है। जिला पदाधिकारी में बोरिंग करने वक्त लोगों से पूरी सावधानी बरतने की अपील की है।

 


 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें