DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › बिहार को 5 सीएम देने वाले टीएनबी कॉलेज को मिलेगा हेरिटेज का दर्जा, विश्वविद्यालय बनाने की मांग
बिहार

बिहार को 5 सीएम देने वाले टीएनबी कॉलेज को मिलेगा हेरिटेज का दर्जा, विश्वविद्यालय बनाने की मांग

भागलपुर। कार्यालय संवाददाताPublished By: Malay Ojha
Sun, 26 Sep 2021 07:53 PM
बिहार को 5 सीएम देने वाले टीएनबी कॉलेज को मिलेगा हेरिटेज का दर्जा, विश्वविद्यालय बनाने की मांग

बिहार को पांच मुख्यमंत्री और एक विधानसभाध्यक्ष सहित कई राजनेता व अधिकारी देने वाला टीएनबी कॉलेज को हेरिटेज का दर्जा मिलेगा। इसके साथ ही रांची विश्वविद्यालय रांची और फर्ग्यूसन कॉलेज पुणे की तर्ज पर टीएनबी कॉलेज को विश्वविद्यालय का दर्जा मिलने का रास्ता भी खुल जाएगा। 138 साल पुराने टीएनबी कॉलेज ने रविवार को अपना पहला पूर्ववर्ती छात्र महासमागम का आयोजन किया।

कार्यक्रम में लोगों की मांग पर शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी व विधानसभाध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने अपनी सहमति दी। मंत्री ने प्राचार्य से कागजी प्रक्रिया पूरी कर विभाग में अपनी बात रखने को कहा, ताकि इसे जल्द पूरा किया जा सके। मालूम हो कि इस ऐतिहासिक कॉलेज से सूबे के मुख्यमंत्री भागवत झा आजाद, जगन्नाथ मिश्रा, सतीश प्रसाद सिंह, दारोगा प्रसाद राय, सत्येंद्र नारायण सिन्हा और विधानसभा अध्यक्ष शिवचंद्र झा ने अपनी पढ़ाई पूरी की है।  

4638 शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया चल रही

शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्राथमिक शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा तक में आधारभूत संरचना और शिक्षकों की कमी को सरकार दूर कर रही है। विश्वविद्यालय के लिए 4638 शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया चल रही है। इससे विश्वविद्यालय में जो रिक्त पद हैं वे दूर हो जाएंगे। शिक्षकों की कमी तो सरकार दूर कर देगी मगर शिक्षक और छात्र को भी अपना शत-प्रतिशत देना होगा। जो शिक्षक कक्षाएं नियमित नहीं ले रहे हैं, वे गलत कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बिहार के छात्र प्रतियोगी परीक्षाओं में बेहतर परिणाम ला रहे है। यूपीएससी में कटिहार के रहने वाले शुभम पहला स्थान लाए हैं तो पारा ओलंपिक में मुजफ्फरपुर के छात्र ने परचम लहराया है। बिहार में शैक्षणिक माहौल बेहतर हो रहा है। सरकार ईमानदारी से काम कर रही है। पूर्ववर्ती छात्र कॉलेजों के लिए संसाधन की तरह है। उन्होंने अपने भाषण में तिलकामांझी, विक्रमशिला, कर्ण, दिनकर को भी याद किया।

डिजिटल और तकनीक के साथ आगे बढ़ रहा बिहार

बिहार विधानसभाध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि डिजिटल और तकनीक के साथ बिहार के छात्र आगे बढ़ रहे हैं। हम जो आज कर रहे हैं उस पर आने वाली पीढ़ियां नाज करेंगी। बिहार के बच्चे इतिहास बदलने के लिए आतुर हैं। हमारे नौजवान शिक्षा के क्षेत्र में आगे आएं। उन्होंने कहा कि लखीसराय, भागलपुर, विक्रमशिला अपने अंदर कई इतिहास समेटे हुए हैं। सांसद अजय मंडल ने कहा कि छात्र-छात्राओं का भविष्य इसी मंदिर में बनता है। इसे बेहतर करने की जरूरत है। इसमें सरकार, शिक्षक और छात्र तीनों को मिलकर काम करने की जरूरत है। उन्होंने शिक्षा मंत्री और विधानसभा अध्यक्ष से टीएनबी को विश्वविद्यालय की मान्यता दिलाने की मांग की।

किसी ने कॉलेज तो किसी ने छात्रावास का उठायी मांग

नगर विधायक अजीत शर्मा ने कहा कि वे टीएनबी में छात्रसंघ अध्यक्ष रह चुके हैं। जेपी मूवमेंट के दौरान हजारीबाग जेल में भी रहे। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती छात्र महासमागम प्रतिवर्ष होना चाहिए। अधिक से अधिक पूर्ववर्ती छात्रों को इससे जोड़ने की जरूरत है। सुल्तानगंज के विधायक प्रो. ललित मंडल ने कहा कि टीएनबी बेहतर शिक्षा के माहौल के लिए जाना जाता है। कहलगांव विधायक पवन कुमार यादव ने अंगिका में सबका स्वागत किया। पीरपैंती विधायक ललन कुमार पासवान ने कहा कि पूर्ववर्ती छात्र महासमागम न सिर्फ कॉलेज के लिए जरूरी होता है बल्कि इससे छात्र प्रोत्साहित होते हैं। गोपालपुर विधायक गोपाल मंडल ने टीएनबी सहित टीएमबीयू के अन्य कॉलेज और छात्रावास की दयनीय स्थिति से अवगत कराते हुए जीर्णोद्धार के लिए राशि देने की मांग की।

 

संबंधित खबरें