ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारVTR के जिमरी में बाघ ने किशोर को मार डाला, बकरी चराने गया था राजकुमार, झाड़ी में छिपे बाघ ने किया हमला

VTR के जिमरी में बाघ ने किशोर को मार डाला, बकरी चराने गया था राजकुमार, झाड़ी में छिपे बाघ ने किया हमला

पिता लक्ष्मण बैठा ने बताया कि उनका पुत्र बकरी चराने जंगल के समीप गया था। झाड़यों में पहले से ही बाघ छिपा बैठा था। मौका पाते ही बाघ ने उसपर हमला कर दिया। बाघ ने उसकी सिर को बुरी तरह जख्मी कर दिया।

VTR के जिमरी में बाघ ने किशोर को मार डाला, बकरी चराने गया था राजकुमार, झाड़ी में छिपे बाघ ने किया हमला
Malay Ojhaबेतिया हिन्दुस्तानSat, 14 May 2022 07:43 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

वीटीआर वन प्रमंडल दो के चिउटाहां वनक्षेत्र के जिमरी गांव के समीप जंगल में गए लक्ष्मण बैठा के पुत्र राजकुमार बैठा (13) पर बाघ ने हमला बोल दिया। किशोर की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। चिउटाहां वनक्षेत्र अधिकारी सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि जिमरी के जंगल में बाघ के हमले में किशोर की मौत की सूचना मिली थी। घटनास्थल पर पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। जिमरी गांव जंगल से सटा है। किशोर जंगल में जलवान, भुटकी या कोचिला का साग तोड़ने के लिए गया होगा। इसी दौरान झाड़ी में छिपे बाघ ने हमला कर उसे मार डाला। 

पिता लक्ष्मण बैठा ने बताया कि उनका पुत्र बकरी चराने जंगल के समीप गया था। झाड़यों में पहले से ही बाघ छिपा बैठा था। मौका पाते ही बाघ ने उसपर हमला कर दिया। बाघ ने उसकी सिर को बुरी तरह जख्मी कर दिया। गर्दन पकड़कर जंगल में घसीटकर ले जाने लगा। उसके चीखने और बाघ की दहाड़ सुनकर आसपास काम कर रहे लोग दौड़े। शोर मचाने पर बाघ किशोर को छोड़कर जंगल में घुस गया। लोग वहां पहुंचे तो किशोर की मौत हो चुकी थी।

बाघ की निगरानी के लिए तैनात की गई टीम

वीटीआर के वन संरक्षक सह क्षेत्र निदेशक डॉ.नेशामणी के ने बताया कि चिउटाहां वनक्षेत्र के जिमरी जंगल में बाघ के हमले में किशोर की मौत की सूचना के बाद टीम का गठन किया गया है। वनकर्मियों की टीम बाघ की निगरानी करेगी। गांव जंगल से सटा है। यहां जानवरों का आना-जाना लगा रहता है। क्षेत्र में माइकिंग कराकर अकेले नहीं निकलने और सरेह में जाने से पहले सुरक्षा के उपाय करने की सलाह लोगों को दी जा रही है।

बाघ व जंगली भैसों की चहलकदमी से लोगों में दहशत

संबंधित खबरें

वीटीआर के जंगल से सटे वनवर्ती गांवों के लोग बाघ व जंगली भैंसों की चहलकदमी से दहशत में है। जंगली भैंसों के हमले में दो लोगों की मौत बीते दो-तीन महीने के भीतर हो चुकी है। बाघ के हमले में बीते पांच-सात सालों में दर्जनभर लोगों की जान जा चुकी है। वहीं कई दर्जन लोग जानवरों के हमले में घायल हुए हैं। इससे लोगों में खौफ का माहौल है।

पेट्रोलिंग व फोन नहीं उठाने का लोगों ने लगाया आरोप

बाघ व जंगली भैसों का हमले इन दिनों क्षेत्र में बढ़ गई है। जिमरी के मुखिया खूबलाल प्रसाद, उपमुखिया सुमन सिंह, वीरेंद्र पासवान, शिव कुमार राम, लक्ष्मण बैठा आदि ने बताया कि वन विभाग की ओर से जंगल में पेट्रोलिंग नहीं की जा रही है। घटना घटने पर सूचना देने के लिए फोन करते हैं, लेकिन वन अधिकारियों व कर्मियों का फोन नहीं उठता है। वीटीआर प्रशासन की इस लापरवाही का दंड वनवर्ती गांव के लोग भुगत रहे हैं। 

 

epaper