ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारछठ की खुशियां मातम में बदलीं, घाट पर डूबने से इकलौते बेटे की मौत, परिवार में पसरा मातम

छठ की खुशियां मातम में बदलीं, घाट पर डूबने से इकलौते बेटे की मौत, परिवार में पसरा मातम

एक परिवार के लिए छठ की खुशियां मातम में बदल गईं। जब छठ घाट पर डूबने से 11 साल के बच्चे की मौत हो गई। मृतक हिमांशु परिवार का इकलौता बेटा था। परिजनों ने पोस्टमार्टम से इंकार कर दिया है।

छठ की खुशियां मातम में बदलीं, घाट पर डूबने से इकलौते बेटे की मौत, परिवार में पसरा मातम
Sandeepहिन्दुस्तान,कटिहारSun, 19 Nov 2023 06:05 PM
ऐप पर पढ़ें

कटिहार जिले में एक परिवार के लिए छठ की खुशियां मातम में बदल गई। कदवा इलाके में भोगांव पंचायत भवन के पास बने छठ घाट पर खेलने के दौरान डूबने से 11 वर्षीय बालक हिमांशु कुमार की मौत हो गई। स्थानीय मुखिया राजकुमारी देवी, पूर्व मुखिया शिव शंकर भगत ने बताया की पर्व की सारी तैयारी पूरी थी। घाट पर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर नाव रखा गया था।  सभी अपने-अपने घरों से छठ पर्व के अवसर पर टोकरी आदि लेकर घाट पर आने की तैयारी में थे। 

इसी बीच कुछ बच्चे जो छठ घाट पर खेल रहे थे अचानक से नाव पर चढ़कर खेलने लगे। उसमें से एक बच्चा पानी में डूब गया।स्थानीय लोगों द्वारा जब तक बालक  को निकाला जाता तब तक बच्चे की मौत हो चुकी थी। घटना की सूचना अंचलाधिकारी व कदवा पुलिस को दी गई। सूचना पर एनडीआरएफ की टीम व कदवा पुलिस मौके पर पहुंची। जब तक एनडीआरएफ की टीम पहुंचती तब तक ग्रामीण के सहयोग से बच्चा को बाहर निकाल लिया गया था।

बालक के पिता व परिजन बच्चों को मृत मानने के लिए तैयार नहीं थे। जिस कारणवश परिजनों द्वारा बालक को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दुर्गागंज ले जाया गया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र दुर्गागंज में इलाज कर रहे चिकित्सक नीतीश कुमार ने बच्चे की जांच कर मृत घोषित कर दिया। मृत बालक के पिता व परिजन शव का पोस्टमार्टम कराने से इनकार  कर दिया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें