ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारसियासी तकरार का कारण बने मदरसा ब्लास्ट पर प्रशासन ने साफ की स्थिति, फटा था देशी बम, इमाम को क्लीनचिट

सियासी तकरार का कारण बने मदरसा ब्लास्ट पर प्रशासन ने साफ की स्थिति, फटा था देशी बम, इमाम को क्लीनचिट

बिहार में सियासी तकरार का कारण बन गए बांका मदरसे में हुए विस्फोट के मामले में जिले के पुलिस प्रशासन ने गुरुवार को कई बातें साफ कर दीं। एसपी अरविन्द कुमार गुप्ता ने कहा कि यहां देसी बम फटा...

सियासी तकरार का कारण बने मदरसा ब्लास्ट पर प्रशासन ने साफ की स्थिति, फटा था देशी बम, इमाम को क्लीनचिट
बांका। कार्यालय संवाददाताThu, 10 Jun 2021 06:58 PM
ऐप पर पढ़ें

बिहार में सियासी तकरार का कारण बन गए बांका मदरसे में हुए विस्फोट के मामले में जिले के पुलिस प्रशासन ने गुरुवार को कई बातें साफ कर दीं। एसपी अरविन्द कुमार गुप्ता ने कहा कि यहां देसी बम फटा था, जो कंटेनर में रखा था। तमाम सवालों को खारिज करते हुए एसपी ने कहा कि बम विस्फोट में मृत इमाम की कोई संदिग्ध गतिविधियां सामने नहीं आई हैं। डीएम सुहर्ष भगत ने बताया कि नवटोलिया स्थित मस्जिद में संचालित मदरसा अवैध था। इसका रजिस्ट्रेशन नहीं था और रैयती जमीन पर पिछले 18-20 वर्षो से चल रहा था। यहां 50-60 बच्चों को तालीम दी जाती थी।

डीएम ने कहा कि सदर थाना क्षेत्र अन्तर्गत चांदन नदी तट पर बसे चमरेली नवटोलिया गांव स्थित मदरसा में मंगलवार सुबह बम विस्फोट हुआ था। विस्फोट में घायल इमाम मौलाना अब्दुल मोबीन (33) को इलाज के लिए ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई। डीएम ने कहा कि यह मदरसा, मदरसा बोर्ड से रजिस्टर्ड नहीं था। अभी लॉकडाउन के कारण बंद था। मामले में अन्य सभी पहलुओं पर जांच चल रही है।  

एसपी ने कहा आठ जून सुबह 8.35 बजे सूचना मिली कि मदरसा में बम बलास्ट हुआ है। अभी तक की जांच में जो तथ्य सामने आए हैं, उससे लगता है कि यह देसी बम था। बम कंटनेर में रखा था और विस्फोट से पिलर गिरने के कारण छत गिर गयी थी। उन्होंने कहा कि नवटोलिया का इतिहास रहा है कि यहां देसी बम से वारदात को अंजाम दिया गया है। इसको लेकर कई मामले भी दर्ज हैं।

मस्जिद के मृत इमाम झारखंड के देवघर जिले के सारठ थाना क्षेत्र के रहने वाले थे। उनका कोई संदिग्ध चरित्र नहीं रहा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इमाम के चेहरे पर चोट लगने की बात कही गई है। एसपी ने कहा कि मदरसा के मुख्य दरवाजा के दाहिनी तरफ विस्फोट का केन्द्र था। इसकी जांच भागलपुर से आयी एफएसएल की टीम व एटीएस द्वारा की जा रही है। टीम की रिपोर्ट आने पर ही स्पष्ट हो पाएगा कि विस्फोट में किस पदार्थ का इस्तेमाल किया गया था। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। 

Advertisement