ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारपटना गोली कांड में 10 गिरफ्तार, दस बंदूकें सहित 190 कारतूस बरामद, धरपकड़ अब भी जारी

पटना गोली कांड में 10 गिरफ्तार, दस बंदूकें सहित 190 कारतूस बरामद, धरपकड़ अब भी जारी

पटना के नदी थाना क्षेत्र के जेठुली गांव में हुई गोलीबारी में उमेश राय के पक्ष के 10 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। भारी मात्रा में असलाह भी बरामद हुआ है। भागे हुए आरोपियों की धरपकड़ जारी है।

पटना गोली कांड में 10 गिरफ्तार, दस बंदूकें सहित 190 कारतूस बरामद, धरपकड़ अब भी जारी
Ratanलाइव हिंदुस्तान,पटनाTue, 11 Jun 2024 11:44 PM
ऐप पर पढ़ें

नदी थाना क्षेत्र के जेठुली गांव में दो पक्षों के बीच सोमवार को गोलीबारी हुई थी। इस मामले में पुलिस ने उमेश राय पक्ष के 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से भारी मात्रा में हथियार भी बरामद हुए हैं। घटना के बाद से पुलिस लगातार गांव में कैंप कर रही है ताकि भागे हुए आरोपियों को पकड़ सके।  

 

कितने नामजद, कितने खिलाफ मुकदमा दर्ज

ग्रामीण एसपी रौशन कुमार ने बताया कि थानेदार के बयान पर पुलिस ने दोनों पक्षों के 43 नामजद और 210 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। गिरफ्तार आरोपित उमेश राय पक्ष के हैं। फरार आरोपियों की तलाश में पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है।

 

इनकी हुई गिरफ्तारी


फतुहा निवासी विजेंद्र सिंह पुत्र कुणाल सिंह, दिनेश सिंह पुत्र पिंकू कुमार, लक्ष्मी सिंह पुत्र सहेन्द्र कुमार, राजेन्द्र सिंह पुत्र अनिरुद्ध कुमार, पचरुखिया निवासी बिन्द सिंह पुत्र संजीव कुमार और स्व. रामस्वार्थ राय पुत्र रजनीश कुमार, बक्सर निवासी हरेराम राय पुत्र हरिमोहन राय, रांची निवासी सोहन प्रसाद पुत्र कुमार वशिष्ठ नारायण और श्रीकांत विलास पाण्डेय पुत्र रंगनाथ पांडेय व हजारीबाग निवासी बुटन राम पुत्र अजीत राम।

 

जब्त किए गए हथियार

इस मामले के तहत 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।  उनके पास से छह लाइसेंसी राइफल, 161 कारतूस, एक पिस्टल, एक दो नाली बंदूक, एक स्पॉटिंग राइफल, एक रिपीटर राइफल, 29 स्पॉटिंग राइफल के कारतूस, दो कार और 13 मोबाइल फोन इत्यादि जब्त किए गए हैं।

 

पुराना विवाद उभरकर सामने आया


जेठुली गांव में व्यायामशाला और पार्किंग की विवादित जमीन को लेकर बीते वर्ष 19 फरवरी को उमेश राय और चंद्रिका राय पक्ष के बीच जमकर गोलीबारी हुई थी। इसमें गोली लगने से पांच लोगों की मौत हो गई थी। हत्या और गोलीबारी मामले में उमेश राय और बच्चा राय उर्फ सतीश फिलहाल जमानत पर बाहर है। ग्रामीण एसपी ने बताया कि दोनों आरोपित अपने सहयोगियों के साथ हथियार से लैस होकर सोमवार को जेठुली स्थित गंगा किनारे अपने घर गए हुए थे। सभी वर्चस्व स्थापित करने को लेकर लोगों को डराने, धमकाने लगे थे। वे घटनास्थल पर कुर्सी, स्टूल लगाकर बैठे थे। इसकी जानकारी मिलते ही दूसरे पक्ष के गौरव कुमार, ललन राय अपने करीब 60 सहयोगियों के साथ मौके पर पहुंचे। वे भी हथियारों से लैस थे। 

 

दोनों पक्षों का आमना -सामना होने पर पहले पथराव हुआ, बाद में दोनों ओर से फायरिंग होने लगी थी। बताया जाता है कि दोनों के बीच एक दर्जन से ज्यादा बार गोलीबारी की गई। इससे इलाके में दहशत फैल गई। हालांकि, गोली किसी को नहीं लगी। इस घटना से ग्रामीणों में सवा वर्ष पहले हुए हत्याकांड की याद ताजा हो गई। उधर फायरिंग की सूचना मिलते ही नदी थानाध्यक्ष, जेठुली कैंप एसटीएफ सहित पुलिस के वरीय अधिकारी दल बल के साथ मौके पर पहुंचे थे। इसके बाद आरोपी वहां से फरार हो गए। बाद में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार किया। अन्य आरोपी अभी फरार हैं।