ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहारचार चरण में ही थक कर चूर हुए तेजस्वी; PM मोदी पर टिप्पणी से लालू के लाल पर नीतीश की पार्टी JDU गर्म

चार चरण में ही थक कर चूर हुए तेजस्वी; PM मोदी पर टिप्पणी से लालू के लाल पर नीतीश की पार्टी JDU गर्म

जदयू नेताओं ने कहा कि झूठ के सहारे लोगों को भरमाने की कोशिश कर करे तेजस्वी यादव को जानना चाहिए कि बिहार की जनता अब भी उनके जंगलराज को भूली नहीं है। कार्यकर्ताओं को सरेआम पीटने की उनकी संस्कृति है।

चार चरण में ही थक कर चूर हुए तेजस्वी; PM मोदी पर टिप्पणी से लालू के लाल पर नीतीश की पार्टी JDU गर्म
Sudhir Kumarहिन्दुस्तान,पटनाSat, 18 May 2024 11:03 AM
ऐप पर पढ़ें

Bihar Lok Sabha Election 2024: जदयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव रंजन और प्रदेश मीडिया पैनलिस्ट डॉ. मधुरेंदु पांडेय ने संयुक्त रूप से बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पर निशाना साधा है। नेताओं ने कहा है कि चार चरण के मतदान के बाद तेजस्वी यादव शारीरिक और मानसिक तौर पर थक गये हैं। इसीलिए वह अपने से बड़े नेताओं के प्रति अशोभनीय टिप्पणियां करने पर उतर आये हैं। नीतीश कुमार की पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर की गई टिप्पणी को लेकर हमलावर है। तेजस्वी यादव ने पीएम मोदी पर गरीबी, बेरोजगारी, महंगाई जैसे मुद्दों पर मौन रहने का आरोप लगाया था। 19 अप्रैल, 26 अप्रैल, 7 मई और 13 मई को चार चरणों के लोकसभा चुनाव हो चुके हैं। 20 मई को पांचवें चरण की वोटिंग होने वाली है।

जदयू नेताओं ने कहा कि झूठ के सहारे लोगों को भरमाने की कोशिश कर करे तेजस्वी यादव को जानना चाहिए कि बिहार की जनता अब भी उनके जंगलराज को भूली नहीं है। उस पर से उनके बयान और कार्यकर्ताओं को सरेआम पीटने की उनकी संस्कृति यह बताती है कि वह अब भी 90 की दशक वाली अपनी लठमार संस्कारों से उबरे नहीं हैं।

राजद के राज में विकास का मतलब अपराधियों और नक्सलियों का विकास था। उद्योग के नाम पर रंगदारी और अपहरण चलता था। नीतीश कुमार के राज में बिहार की बदली फिजा राजद को रास नहीं आ रही है। एलईडी के प्रकाश से जगमगाते बिहार को यह वापस लालटेन युग में ले जाना चाहते हैं।

इससे पहले शुक्रवार को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने सोशल मीडिया एक्स पर ट्वीट करके प्रधानमंत्री पर विभिन्न मुद्दों पर मौन रहने का आरोप लगाया।  तेजस्वी यादव ने प्रधानमंत्री पर आरोप लगाया कि वे नौकरी पर मौन, बेरोजगारी पर मौन, महंगाई पर मौन, गरीबी पर मौन, पलायन पर मौन, किसानों पर मौन हैं। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि वे बेटियों पर मौन, छात्रों पर मौन, शिक्षा पर मौन, मुद्दों पर मौन, पेपर लीक पर मौन, बिहार को विशेष राज्य के दर्जा पर मौन हैं। साथ ही, तेजस्वी ने प्रधानमंत्री पर बिहार के विकास को लेकर सकारात्मक बातें नहीं करने का भी आरोप लगाया। तेजस्वी ने कहा कि 5 साल में वे सिर्फ वोट लेने आते हैं और उसके बाद बिहार को दरकिनार कर देते हैं।