ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारतेजस्वी की विश्वास यात्रा के बाद 3 मार्च को महाठबंधन की महारैली, राहुल, दीपांकर, येचुरी, राजा भी शामिल होंगे

तेजस्वी की विश्वास यात्रा के बाद 3 मार्च को महाठबंधन की महारैली, राहुल, दीपांकर, येचुरी, राजा भी शामिल होंगे

राजधानी पटना के गांधी मैदान में 3 मार्च को महागठबंधन की ओर से महारैली का आयोजन किया गया है। इस रैली में आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव, कांग्रेस नेता राहुल गांधी और लेफ्ट के कई नेता शामिल होंगे।

तेजस्वी की विश्वास यात्रा के बाद 3 मार्च को महाठबंधन की महारैली, राहुल, दीपांकर, येचुरी, राजा भी शामिल होंगे
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाWed, 21 Feb 2024 05:26 PM
ऐप पर पढ़ें

महागठबंधन की ओर से पटना के गांधी मैदान में 3 मार्च को ‘जन विश्वास महारैली’ का आयोजन होगा। बुधवार को प्रदेश राजद कार्यालय में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह ने इसकी घोषणा की। इस महारैली में राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव, कांग्रेस नेता राहुल गांधी, भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भट्टाचार्या, भाकपा के वरिष्ठ नेता डी. राजा, माकपा के वरिष्ठ नेता सीताराम येचुरी सहित सभी घटक दलों के प्रदेश अध्यक्ष और वरिष्ठ नेता शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि लोकतंत्र व संविधान बचाने के लिए महारैली का आयोजन होगा। 

महंगाई-बेरोजारी होगा मुद्दा
महारैली में महंगाई व बेरोजगारी सहित अन्य मुद्दों पर आक्रोशित जनता को आमंत्रित किया जाएगा। महारैली में करीब दस लाख लोग शामिल होंगे। पूरा पटना महारैली मय होगा। इसमें बिहार में 17 माह बनाम 17 साल के कार्यों के साथ-साथ जातीय गणना, आरक्षण की व्यवस्था 75 प्रतिशत किए जाने सहित अन्य मुद्दों पर चर्चा की जाएगी।   

परिवर्तन चाहती है जनता:अब्दुलबारी सिद्दीकी
इस मौके पर राजद के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव अब्दुलबारी सिद्दीकी ने कहा कि जिस प्रकार विश्वासघात किया गया है, बिहार की जनता परिवर्तन चाहती है, यह परिवर्तन की महारैली होगी। प्रदेश राजद अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा कि पूरा बिहार इंडिया गठबंधन के साथ है, सभी 40 सीट पर इंडिया गठबंधन की जीत होगी। प्रेस कांफ्रेंस को वाम दलों के नेताओं ने भी संबोधित किया और महारैली के आयोजन में बड़ी संख्या में लोगों के शामिल होने की बात कही। उन्होंने कहा कि महागठबंधन सरकार ने जनता के हितों में विकास कार्यो को हर स्तर पर आगे बढ़ाया। इसके पूर्व महागठबंधन के घटक दलों की पार्टी कार्यालय में बैठक हुई। इस बैठक में तीन मार्च को जन विश्वास महारैली के आयोजन का निर्णय लिया गया। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें