DA Image
Saturday, December 4, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहारतेजस्वी ने उखाड़ फेंका, बाकी हम विसर्जन करा देंगे...लालू के निशाने पर नीतीश कुमार, सीएम का पलटवार- अच्छा होगा गोली ही मरवा दें

तेजस्वी ने उखाड़ फेंका, बाकी हम विसर्जन करा देंगे...लालू के निशाने पर नीतीश कुमार, सीएम का पलटवार- अच्छा होगा गोली ही मरवा दें

पटना हिन्दुस्तान टीमMalay Ojha
Tue, 26 Oct 2021 10:40 PM
तेजस्वी ने उखाड़ फेंका, बाकी हम विसर्जन करा देंगे...लालू के निशाने पर नीतीश कुमार, सीएम का पलटवार- अच्छा होगा गोली ही मरवा दें

राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने पटना आने के बाद एक समाचार एजेंसी को दिए गए अपने पहले इंटरव्यू में कहा कि तेजस्वी प्रसाद यादव ने विरोधियों को पहले ही उखाड़ फेंका है, जो थोड़ा बहुत बचा है तो इनका विसर्जन करने खुद आ गए हैं। बिहार विधानसभा की दो सीटों तारापुर व कुशेश्वरस्थान को लेकर लालू प्रसाद ने मंगलवार को अपनी पार्टी की जीत का दावा किया। उन्होंने कहा कि इस बात में रत्ती भर भी संदेह नहीं है कि राजद उम्मीदवार दोनों स्थानों पर चुनाव जीतेंगे। तेजस्वी यादव ने बेहतरीन तरीके से पार्टी के नेतृत्व को संभाला है। तेजस्वी ने पहले से ही विरोधियों की हवा निकाल दी है और जो थोड़ा बहुत बचा है उसका विसर्जन करने वह खुद आ गए हैं। कहा कि 27 अक्टूबर को दोनों विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव प्रचार करेंगे। 

उन्होंने नीतीश कुमार पर अहंकारी होने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह खुद को प्रधानमंत्री के तौर पर देख रहे थे। उन्हें हर तरफ से पीएम मैटेरियल बताया जा रहा था। लेकिन जब पीएम के मैटिरियल की हवा निकल गई तो भाजपा के साथ हो गए और जुगाड़ के सहारे बिहार में सत्ता में बने हुए हैं। उन्होंने भाजपा व केंद्र सरकार की आलोचना की और कहा कि देश में महंगाई अब कमरतोड़ स्थिति से भी ऊपर जा पहुंची है। लालू प्रसाद ने पारिवारिक कलह के बारे में चर्चा नहीं की। 

.. और कर ही क्या सकते, अच्छा होगा गोली ही मरवा दें : नीतीश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिना राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद का नाम लिये कहा कि .... तो वे गोली ही मरवा दें। सबसे अच्छा यही होगा। बाकी कुछ तो वे कर नहीं सकते हैं। पर, अगर चाहें तो गोली मरवा सकते हैं। मुख्यमंत्री मंगलवार को उपचुनाव के प्रचार से लौटने के बाद पटना एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बात कर रहे थे। पत्रकारों ने उनसे सवाल किया कि लालू जी कह रहे हैं कि पटना आये ही हैं, नीतीश जी का विसर्जन करने के लिए। इसके जवाब में मुख्यमंत्री ने ये बातें कहीं। 

पत्रकारों के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि राजद को 15 वर्षों का मौका मिला तो उसने क्या किया? कितने लोगों को रोजगार दिया? कितनी सड़क बनवाई? बिजली के लिये क्या किया? स्कूल में कितनों को पढ़वाया? वर्ष 2005 के पहले क्या स्थिति थी अनुसूचित जाति, अतिपिछड़ी जाति, अल्पसंख्यक और महिलाओं की। कितने लोगों को भगाये थे यहां से। हमलोगों को काम करने का मौका मिला तो ज्यादा रोजगार के लिए काम कर रहे हैं। कोरोना के दौर में रोजगार के लिए प्रबंध किया है। बड़ी संख्या में शिक्षकों का नियोजन हुआ। विभिन्न विभागों में नियुक्ति का काम जारी है। इतना ही नहीं अपना रोजगार खोलने के लिए एससी और एसटी वर्ग को पांच लाख का अनुदान और पांच लाख के लोन की व्यवस्था करायी। बाद में अतिपिछड़ा वर्ग को भी इस योजना में शामिल किया। सभी वर्ग की महिलाओं को भी पांच लाख अनुदान और बिना ब्याज के पांच लाख का लोन दिया जा रहा है। अब बाकी समुदाय के लोगों को भी पांच लाख का अनुदान और मात्र एक प्रतिशत ब्याज पर लोन की व्यवस्था की गई।

सीएम  ने आगे कहा कि राजद सरकार में बाढ़ और सुखाड़ में लोगों को कुछ नहीं मिलता था। अब हर एक को मदद पहुंचायी जाती है। जो भी वायदा किया हमने पूरा किया। हर घर तक शुद्ध पेयजल पहुंचाया। शौचालय का निर्माण किया गया। हर पंचायत में इंटर तक की पढ़ाई का प्रबंध किया, ताकि लड़कियों की शिक्षा बेहतर हो। विपक्ष के लोग पब्लिसिटी के लिए हमपर बोलते हैं। हमको इसकी कोई चिंता और परवाह नहीं है। 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें