DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तेजस्वी को पाकिस्तान की भाषा बोलने वालों की फिक्र : सुशील मोदी

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने 33 दिनों तक अपने क्षेत्र की जनता, पार्टी और विधानसभा स्पीकर तक को अपने बारे में जानने का अधिकार नहीं दिया था। लेकिन वे जानना चाहते हैं कि कश्मीर के तीन पूर्व मुख्यमंत्री कहां हैं। अनुच्छेद 370 के निष्प्रभावी होने से जब पूरा देश खुश है तो तेजस्वी यादव को उनकी फिक्र है, जो पाकिस्तान की भाषा बोलते रहे।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि आज़ादी  के 71 साल बाद यह पहला मौका होगा जब देश जम्मू-कश्मीर में अलगाववाद की नर्सरी को खाद-पानी देने वाले अनुच्छेद 370 और मुस्लिम महिलाओं को प्रताड़ित करने वाली तीन तलाक प्रथा की चुभन से मुक्ति के सुखद एहसास के बीच स्वाधीनता दिवस मनाएगा। बिहार की जनता, विशेषकर मुस्लिम बहनों को स्वाधीनता दिवस और रक्षाबंधन की दोहरी शुभकामनाएं। जम्मू-कश्मीर में जब कांग्रेस का शासन था, तब अलगाववादी इतने हावी थे कि बात-बात पर कर्फ्यू लगाने की नौबत आती थी। जिनकी सरकार को घाटी में कर्फ्यू की सरकार कहा जाता था, वह अब स्वाधीनता दिवस से पहले किए जाने वाले एहतियाती उपायों का भी विरोध कर रहे हैं। राहुल गांधी जब अलगाववादियों से मिलने की शर्त पर श्रीनगर जाना चाहते थे, तब राज्यपाल ने आमंत्रण रद्द कर कांग्रेस को करारा जवाब दिया।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Tejashwi is worried about speakers of Pakistan Sushil Modi