DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › बिहार के 13 यूनविर्सिटी में नेपाली भाषा के 10 समेत 4638 सहायक प्राध्यापकों की होगी भर्ती
बिहार

बिहार के 13 यूनविर्सिटी में नेपाली भाषा के 10 समेत 4638 सहायक प्राध्यापकों की होगी भर्ती

पटना | हिन्दुस्तान ब्यूरोPublished By: Sunil Abhimanyu
Tue, 22 Sep 2020 11:31 AM
बिहार के 13 यूनविर्सिटी में नेपाली भाषा के 10 समेत 4638 सहायक प्राध्यापकों की होगी भर्ती

बिहार के जिन 13 परंपरागत विश्वविद्यालयों में 4638 सहायक प्राध्यापकों की नियुक्ति की अधियाचना शिक्षा विभाग ने रविवार को बिहार राज्य विश्वविद्यालय सेवा आयोग से की है। उनमें पढ़ाए जाने वाले सभी विषयों में रिक्त पदों पर नियुक्ति होगी। 

आयोग द्वारा बहुत जल्द योग्य अभ्यर्थियों से आवेदन मांगे जाने की तैयारी तेज गति से चल रही है। अम्बेदकर विचार, गांधी विचार, अंगिका, नेपाली, बंगला, मैथिली समेत विश्वविद्यालयों से आयी सभी विषयों की रिक्तियों पर नियुक्ति की हरी झंडी देते हुए शिक्षा विभाग ने आयोग को नियुक्ति करने के लिए योग्य अभ्यर्थियों का चयन करने को कहा है।

विषयवार भेजी गयी 52 विषयों की रिक्तियों की सूची के मुताबिक सबसे कम अरबी तथा विधि विषय में 2-2 तो सबसे अधिक समाज शास्त्र विषय में 424 रिक्ति भेजी गयी है। अंग्रेजी में 253, उर्दू में 100, फारसी में 14, मैथिली में 43, संस्कृत में 76, हिन्दी में 292, इतिहास में 316, एआईएएच में 55, गृह विज्ञान में 83, पीएमआईआर में 18, भूगोल में 142, राजनीतिक शास्त्र में 280, अर्थशास्त्र में 268, दर्शनशास्त्र में 144, लोक प्रशासन में 108, ग्रामीण अर्थशास्त्र विषय में 12, भौतिकी में 8, रसायन में 300, बॉटनी में 332, गणित में 333, जंतु विज्ञान में 261 सहायक प्राध्यापकों के पद आयोग को दिए गए हैं।

संगीत विषय में 285, बंगला में 23, पर्यावरण विज्ञान में 26, वाणिज्य में 104, साहित्य में 112, व्याकरण के 31, ज्योतिषी के 36, कर्मकांड के 17, धर्मशास्त्र के 5, पुराण के 9, दर्शन के 3, अम्बेदकर विचार के 9, मानव शास्त्र के 4, भूगर्भ शास्त्र के 5, गांधी विचार के 5, विधि विषय के 2, अंगिका के 15, सांख्यिकी के 4, शिक्षा के 17, बायो केमेस्ट्री के 10, इलेक्ट्रानिक्स के 1, पाली के 12, प्राकृत के 22, नेपाली के 10 और रशियन  के एक शिक्षक पद की नियुक्ति की अधियाचना भेजी गयी है। 
 

इस आर्टिकल को शेयर करें
लाइव हिन्दुस्तान टेलीग्राम पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

सब्सक्राइब
अपडेट रहें हिंदुस्तान ऐप के साथ ऐप डाउनलोड करें

संबंधित खबरें