DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › नल जल ठेका विवादः तेजस्वी यादव करने वाले हैं बड़ा धमाका, बताया नीतीश कुमार क्यों चुप हैं
बिहार

नल जल ठेका विवादः तेजस्वी यादव करने वाले हैं बड़ा धमाका, बताया नीतीश कुमार क्यों चुप हैं

पटना लाइव हिन्दुस्तानPublished By: Yogesh Yadav
Wed, 22 Sep 2021 09:40 PM
नल जल ठेका विवादः तेजस्वी यादव करने वाले हैं बड़ा धमाका, बताया नीतीश कुमार क्यों चुप हैं

डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद के परिजनों को नल जल योजना का ठेका देने के आरोपों पर विपक्ष का हमला तेज होता जा रहा है। राजद नेता तेजस्वी यादव इसे लेकर जल्द बड़ा धमाका करने वाले हैं। बुधवार को दो दिवसीय राजद के प्रशिक्षण शिविर के समापन समारोह के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि डिप्टी सीएम के इस तरह के ठेकों से संबंधित कई दस्तावेज उनके पास आ चुके हैं। एक दो दिन में उसे सार्वजनिक किया जाएगा। इस दौरान तेजस्वी के निशाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रहे। तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री के मुंह में दही जमी है। अगल मुंह खोलेंगे तो सृजन घोटाला फिर से खुल जाएगा। 

नल जल योजना में डिप्टी सीएम के परिजनों को 53 करोड़ का ठेका देने के सवाल पर तेजस्वी ने कहा कि मौजूदा सरकार में लगातार सरकारी खजाने को लूटा जा रहा है। ऊपर से नीचे तक भ्रष्टाचार ही नजर आ रहा है। तेजस्वी ने कहा कि कटिहार जिले में राजद प्रत्याशी के पास ठेके और डिप्टी सीएम से संबंधित सभी डिटेल हैं। कहा कि तारकिशोर के बेटे और बहू को जो 53 करोड़ का ठेका दिया गया है, सभी के दस्तावेज हमारे पास हैं। इससे संबंधित डिटेल भी जल्द सभी के सामने लेकर आएंगे। हमारे प्रत्याशी ने इनसे संबंधित कई दस्तावेज जुटाए हैं। इतना भ्रष्टाचार हो रहा है कि कोई अंदाजा नहीं लगा सकता है। पूरी तरह लूट मची है।

तेजस्वी ने कहा कि ये जांच का विषय है लेकिन नीतीश कुमार जांच नहीं कराएंगे। नीतीश कुमार तो मुंह में दही जमाकर बैठे हैं। वह कोई एक्शन नहीं ले सकते। उनके बस की बात ही नहीं है। वह तो अनुकंपा वाले मुख्यमंत्री हैं। बैशाखी पर सरकार चला रहे हैं। उनके लोग ही भ्रष्टाचार में लिप्त हैं। सृजन घोटाला, बालिका गृह कांड, सात निश्चय वाले काम में भी भ्रष्टाचार सामने आ रहा है। जनता दल यू वालों को चुन-चुन कर ठेके दिये जा रहे हैं। मुख्यमंत्री को अपनी अंतरात्मा जगानी चाहिए।

तेजस्वी ने कहा कि बीजेपी के लोग घोटालों करें तब भी दूघ के धुले हैं। डिप्टी सीएम के मंत्रालय का मामला आ रहा है। इसके बाद भी नीतीश कुमार नहीं बोल रहे हैं। तेजस्वी ने कहा कि बीजेपी के विधायक ने ही कहा था कि अधिकारी बिना घूस लिये कुछ नहीं करते। तेजस्वी ने कहा कि जब एक कांस्टेबल के पास से दस करोड़ की आमदनी के साथ आलीशान बंगला मिला है तो अधिकारी और मंत्री लेवल के लोग कितना भ्रष्टाचार किया होगा। केवल छोटे लोगों को पकड़ा जाता है। बड़ी मछलियां पकड़ी नहीं पकड़ी जाती हैं। इन्हें बचाने वाले नीतीश कुमार ही हैं। 

राम और रामायण को लेकर जीतन राम मांझी के विवादित बयान पर तेजस्वी ने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। कहा कि यह जनता का मामला नहीं है। इसलिए हमारे लिए यह कोई विषय ही नहीं है। हम केवल जनता की भलाई वाला मामला लेकर आएंगे और उसी पर बात करेंगे। सरकारी भ्रष्टाचार से जनता का नुकसान हो रहा है।
 

संबंधित खबरें