ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहारमंदिर के बारे में लालू से बात कर लीजिये, हमारे राम किसी से घृणा नहीं करते; फतेह बहादुर के बयान पर आरजेडी

मंदिर के बारे में लालू से बात कर लीजिये, हमारे राम किसी से घृणा नहीं करते; फतेह बहादुर के बयान पर आरजेडी

आरजेडी प्रवक्ता मनोज झा ने कहा कि मंदिर और भगवान के बारे में जितना ज्ञान राजद और राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव को है, वह बनावटी नहीं है। राजद का पक्ष स्पष्ट है कि सर्व धर्म सम भाव।

मंदिर के बारे में लालू से बात कर लीजिये, हमारे राम किसी से घृणा नहीं करते; फतेह बहादुर के बयान पर आरजेडी
Malay Ojhaहिन्दुस्तान,पटनाMon, 01 Jan 2024 10:56 PM
ऐप पर पढ़ें

आरजेडी विधायक फतेह बहादुर सिंह के पोस्टर व बयान के बाद सियासी घमासान मच गया है। फतेह बहादुर सिंह ने पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास के समीप एक पोस्टर लगाया है, जिसमें ‘मंदिर का मतलब मानसिक गुलामी का मार्ग’ अंकित किया गया है। एक ओर जहां बीजेपी ने आरजेडी विधायक पर जमकर हमला बोला है तो वहीं दूसरी ओर जेडीयू ने भी फतेह बहादुर के बयान पर आपत्ति जताई है। इस बीच आरजेडी प्रवक्ता मनोज झा ने विधायक फतेह बहादुर सिंह के बयानों को लेकर कहा है कि वे उनके हर बयान से इत्तेफाक नहीं रखते, लेकिन अभिव्यक्ति को दबाना नहीं चाहिए। मनोज झा ने कहा कि मंदिर और भगवान के बारे में जितना ज्ञान राजद और राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव को है, वह बनावटी नहीं है। लालू यादव से मंदिर के बारे में बात कर लीजिए। हमारे राम किसी से घृणा नहीं सिखाते हैं।

सोमवार को पार्टी के प्रदेश कार्यालय में मीडिया से बातचीत में प्रो. मनोज झा ने कहा कि राजद का पक्ष स्पष्ट है कि सर्व धर्म सम भाव। हर धर्म के प्रति सम्मान राजद के डीएनए में है। लेकिन क्या हम सावित्री बाई फूले को भूला दें। आज अगर उनके विचारों को हमारे विधायक उल्लेखित करते हैं तो राजद का मंदिर पर हमला हो गया। एक वंचित समाज की रहने वाली महिला के संदर्भ के लिए इस प्रकार की बातें उचित नहीं है।

आरजेडी विधायक के फिर बिगड़े बोल, कहा- हम हिंदू नहीं हैं; जेडीयू भड़की, बोली- कायर बहादुर रख लें नाम

आरजेडी प्रवक्ता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी मर्यादा पुरुषोत्तम राम को नही समझते हैं। हमारे मर्यादा पुरुषोत्तम राम गांधी के राम हैं। हमारे राम किसी से घृणा नहीं करते। मनोज झा ने जेडीयू के अंदरूनी परिवर्तन को लेकर राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा का वातावरण बनाये जाने की आलोचना की।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें